संदीप भंसाली - डिजिटल आज़ादी

PPC Advertising Kya Hai – 5 Reasons Why You Should Use PPC Advertising To Grow Your Business In 2022

PPC Advertising Kya Hai - 5 Reasons Why You Should Use PPC Advertising To Grow Your Business In 2022

अगर आपको समय और पैसे में से किसी एक का चुनाव करने को कहें तो आप किसका चुनाव करेंगे?

आप में से कई लोग समय का चुनाव करेंगे और वहीं कुछ लोग पैसे को चुनेंगे। 

लेकिन, जब बात बिज़नेस को Establish करने की आती है तो दोनों को एक साथ लेकर काम करना होता है। 

Business को Grow करने के लिए पैसा भी लगाना पड़ता है और उसे कुछ समय भी देना पड़ता है। 

लेकिन, क्या आपको पता है कि इंटरनेट के प्रसार की वजह से आज बिज़नेस को कम समय में भी Grow किया जा सकता है?

इसके लिए Digital Marketing की एक Powerful Strategy – PPC Advertising का इस्तेमाल किया जाता है। 

PPC का मतलब (PPC Meaning) होता है Pay Per Click या Pay Per Click Advertising. 

इस Strategy के तहत विभिन्न Digital Platforms पर Ads Run किए जाते हैं और Target Customers तक पहुंचा जाता है। 

आइये इस ब्लॉग के ज़रिये विस्तार से समझते हैं PPC Advertising Kya Hai, PPC Advertising क्यों ज़रूरी है, इसके Types क्या हैं और PPC Marketing कैसे काम करती है। 

Also Read :  How To Grow Your Business Online 10x Using Powerful Diamond Formula

Table of Contents

What Is PPC Advertising - PPC Advertising Kya Hai

What Is PPC Advertising - PPC Advertising Kya Hai

PPC Advertising जानने से पहले PPC Full Form जान लेते हैं। 

PPC का Full Form है Pay Per Click – अर्थात, आपको Ad पर आने वाले प्रत्येक क्लिक के बदले अपने Ad Network को कुछ Amount Pay करना पड़ता है। 

विस्तार से समझा जाए तो PPC Advertising एक ऐसी Marketing Strategy है जिसके ज़रिये Search Engines (जैसे कि Google, Bing, YouTube), Social Media Platforms (Like Facebook, Instagram, LinkedIn) And Third-Party Platforms (Like Amazon, Flipkart) पर Ads Run किये जाते हैं। 

Search Engines पर Ad Run करना Search Engine Marketing कहलाता है। वहीं, Social Media Platforms पर Ad Run करना Social Media Marketing कहलाता है। 

Ads पर आने वाले प्रत्येक क्लिक के बदले आप इन सभी Platforms को कुछ Amount Pay करते हैं जिसे Cost Per Click के नाम से जाना जाता है।  

वैसे Google अभी तक का सबसे बड़ा Ad Platform है जो Google AdSense के नाम से अपनी Service देता है। 

Google AdSense Service लेने पर Google आपके Ads को Relevant Websites & YouTube Videos पर दिखाता है। 

PPC Ads को हम Offline Advertising (Like Banners, Hoardings, Posters, Billboards, Newspapers Ads) का ही Digital Version भी कह सकते हैं। 

लेकिन, Offline Advertising के विपरीत यहां आप Ad Campaigns को अपनी Target Audience के अनुसार Customize कर सकते हैं जिससे Desired Result मिलने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है। 

Businesses अक्सर Pay Per Click Advertising का इस्तेमाल Traffic Generation, Leads Generation, Brand Awareness या Customer Conversion के लिए करते हैं। 

एक Stat के मुताबिक, Google Paid Ads के ज़रिये एक Brand की Awareness 80% तक Increase की जा सकती है। 

इसकी Precise Targeting की वजह से ही आज एक विशेष वर्ग या यूँ कहें कि Potential Customers को टारगेट करना आसान हो गया है। 

आइये अब इसके कुछ उदाहरणों की बात कर लेते हैं। 

अगर आप Google पर  “Digital Marketing Course” सर्च करेंगे तो आपके सामने कई Results Show होंगे जिनके Domain Name के आगे “Ad” लिखा होता है – ये PPC Advertising का ही एक उदाहरण है। 

YouTube पर Video के बीच कुछ Seconds के लिए आने वाला Ad या Display Ad भी Pay Per Click Advertising का ही उदाहरण है। 

Facebook & Instagram जैसे Social Media Platforms पर Image & Video की Form में आने वाला Ad भी PPC Advertising के Examples में शामिल है।  

उम्मीद है कि आपको यहां तक समझ आया होगा PPC Advertising Kya Hai & Pay Per Click Advertising In Hindi क्या होता है। 

PPC Marketing Kya Hai समझने के बाद अब वक्त है इसके विभिन्न Types (Types Of PPC Advertising) को समझने का। 

6 Steps में डिजिटल मार्केटिंग कैसे सीखें जानिए इस Detailed Blog में। 

Types Of PPC Advertising In Hindi

अगर आपको कम समय में अपने Business की Reach बढ़ानी है और उसकी Awareness Create करनी है तो आपको Types Of PPC Ads के बारे में जानकारी होनी चाहिए। 

यहां मुख्यतः चार तरह के Ads शामिल होते हैं :

  • PPC Search Ads
  • PPC Display Ads
  • PPC Shopping Ads
  • PPC Video Ads 

PPC Search Ads

PPC Search Ads में अक्सर वो Ads शामिल होते हैं जो Google के Search Result में दिखाई देते हैं। 

For E.g. जब आप Google पर “Digital Marketing Course” सर्च करते हैं तो आपके सामने Google का First Page खुलता है और उस पर कुछ Results Show होते हैं। अगर आप गौर करेंगे तो इन सभी Results के आगे आपको Ad लिखा हुआ दिखाई देगा। 

Types Of PPC Advertising In Hindi - PPC Search Ads

इन्हें ही Search Ads कहा जाता है।  

आइये थोड़ा समझते हैं कि PPC Search Ads कैसे काम करते हैं?

मान लेते हैं कि आपका एक Institute है जिसकी एक Proper Website है। इसे आपने सर्च इंजन के अनुसार Optimize किया हुआ है लेकिन यह First Page की बजाय 10th Page पर रैंक कर रही है। 

अब अगर आपको अपना Digital Marketing Course Sell करना है तो आपको उसे Organically बेचने में काफी समय लग जाएगा। 

आपको चाहिए कि कम समय में ज़्यादा से ज़्यादा Interested लोगों तक आपकी पहुँच बढ़े और लोग आपके कोर्स को खरीदें। 

ऐसे में आप कुछ Keywords पर Google Ad Campaign Run कर सकते हैं और Bid कर सकते हैं कि अपने किसी Keyword (Let’s Say Digital Marketing Course In Dwarka) के लिए आप कितने पैसे देने को तैयार हैं।

लेकिन, सिर्फ आप ही इस Keyword के लिए अकेले Bid नहीं कर रहे, अन्य Website Owners भी हैं जो Same Keyword के लिए अपनी Website को ऊपर लाना चाहते हैं और इसके लिए वो अधिक पैसे देने के लिए भी तैयार होते हैं। इसे CPC (Cost Per Click) कहते हैं। 

अंत में, सबसे पहली Position पर वही Website Show होती है जिसने सबसे अधिक CPC पर बोली लगाई होती है और Relevant Keywords को Use किया होता है।    

Website को Organically Rank कराने में इन Different Types Of SEO की भी अहम भूमिका होती है। 

PPC Display Ads

PPC Search Ads की तरह ही PPC Display Ads को भी आपने कई बार देखा होगा।  

PPC Display Ads को उन Websites पर Place किया जाता है जिन पर आपकी Target Audience अक्सर Visit करती हैं।  

ये अक्सर Image या Short Videos की Form में होते हैं जिन्हें Websites के एक Specific Section पर Display किया जाता है।  

Types Of PPC Advertising In Hindi - PPC Display Ads

लेकिन यहां सबसे बड़ा सवाल है कि Google को ये कैसे पता लगता है कि हमारी Target Audience कहाँ-कहाँ Visit कर रही हैं?

देखिये, Google आज के ज़माने की गीता, कुरान और बाइबल है जो सब जानता है। बल्कि ऐसा कहा भी जाता है कि “Google बाबा सब जानते हैं।”

Google Ads Display Network, लगभग 2 Million Websites के ज़रिये दुनिया के 90% Internet Users तक पहुँच जाता है। 

In Simple Words, Google हर उस व्यक्ति की गतिविधियों को Track करता है जो इंटरनेट Use कर रहा है और Online समय बिता रहा है। 

इस Tracking की वजह से ही Google जान पाता है कि एक व्यक्ति की पसंद/नापसंद क्या है, किन Platforms पर वो अपना ज़्यादा समय बिताता है, उसे किस तरह के लोगों से जुड़ना पसंद है, कहाँ जाना पसंद है, इत्यादि। 

जब आप PPC Display Ads Run करते हैं और अपनी Target Market की जानकारी Google को देते हैं तो Google अपने Data में से उन सभी लोगों के सामने आपके Ads दिखाने लग जाता है। 

इस तरह की Precise Targeting की वजह से आप अपनी Brand Awareness Create करने के साथ-साथ अन्य Objectives (Like Lead Generation, Traffic Generation, Customer Conversion) भी पूरे कर पाते हैं। 

उम्मीद है आपको PPC Advertising Types समझ आ रहे होंगे। 

PPC Shopping Ads

Shopping Ads अक्सर तब Show होते हैं जब आप कोई Transactional Or Commercial Query सर्च करते हैं। 

Types Of PPC Advertising In Hindi - PPC Shopping Ads

For E.g. अगर आप Google पर “Dell Laptops” सर्च करेंगे तो आपके सामने First Page पर Dell Laptops की Pictures & Details आ जाएँगी। 

इन्हें ही Shopping Ads कहते हैं जो अक्सर Brands द्वारा अपने Products बेचने के लिए चलाये जाते हैं। 

PPC Video Ads

PPC Video Ads Run करने के लिए YouTube से बेहतर अन्य कोई प्लेटफार्म नहीं है। 

आज YouTube को दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सर्च इंजन कहा जाता है जिसके 2.5 Billion से भी ज़्यादा Monthly Active Users हैं। 

इतने बड़े User Base की वजह से आज लगभग हर Business यूट्यूब पर अपने PPC Ad Campaigns रन करता है। 

यूट्यूब पर Text Ads, Skippable & Non-Skippable Video Ads, इत्यादि रन किये जाते हैं। 

इस प्रकार आप इन सभी PPC Ad Types में से अपने Business के लिए Suitable Ad Run कर सकते हैं।  

PPC Advertising Kya Hai और इसके विभिन्न Types को समझने के बाद अब सवाल आता है कि इनमे से किन Pay Per Click Ads को Use किया जाए?

दरअसल, इसके लिए आपको अपने Goals तय करने होंगे और देखना होगा कि किन Platforms पर आपकी Target Audience सबसे ज़्यादा Engage रहती है। 

ये पता करने के बाद ही आप तय कर पाएंगे कि किस तरह के PPC Ads Run किए जाएं। 

अगर आपको Pay Per Click Advertising Kya hai की तरह Types Of PPC Ads समझ आए तो नीचे कमेंट सेक्शन में ज़रूर बताइयेगा। 

आइये अब समझते हैं PPC Advertisement क्यों ज़रूरी है और एक Business को Grow करने में इसकी क्या भूमिका है। 

Pay Per Click Advertising क्यों ज़रूरी है - Benefits Of PPC Advertising In Hindi

PPC Advertising आज हर छोटे व बड़े बिज़नेस की पसंद बन गई है। 

इसे Implement करने से $1 लगाने पर $2 का Return मिलता है (i.e. 200% Profit), जो वाकई में काबिले तारीफ है। 

ये ठीक उसी तरह है जैसे Rs. 100 का सामान Rs. 200 में बेचा जा रहा हो। 

इसके ज़रिये कम पैसे और समय में अपने कस्टमर्स तक पहुंचा जा सकता और सब कुछ In-house एक कंप्यूटर और इंटरनेट की मदद से किया जा सकता है। 

यही नहीं, इसे Measure & Track करना भी काफी आसान है जिससे आप अपने Customer की Buying Journey को Predict कर सकते हैं।

इसके अन्य Benefits में शामिल हैं :

Pay Per Click Advertising क्यों ज़रूरी है - Benefits Of PPC Advertising In Hindi

Targeting Options

PPC Advertising Kya Hai aur Kyun Zaruri Hai का यह सबसे महत्वपूर्ण Benefit है जिसके बिना ये लिस्ट अधूरी है। 

क्या आप उन लोगों तक पहुंचना चाहते हैं जिनके Problems का Solution आपके पास है?

या क्या आप उन लोगों तक पहुंचना चाहेंगे जो आपके जैसे प्रोडक्ट्स और सर्विसेज़ के लिए ही बार-बार ऑनलाइन सर्च कर रहे हैं, अलग-अलग Websites पर Visit कर रहे हैं?

PPC Ads के ज़रिये आप Exactly उन लोगों को टारगेट कर सकते हैं जो  शायद आप को ही ढूंढ रहे हैं। 

यही नहीं, आप उन लोगों को भी Retarget कर पाते हैं जो एक बार आपकी Website पर Visit कर चुके हैं लेकिन उन्होंने कोई Action नहीं लिया। 

आप उनके Search Behaviour, Search History, Geography, Interest इत्यादि के आधार पर उन्हें अलग-अलग तरह के Ads दिखा सकते हैं। 

Cost Effectiveness

एक Newspaper या Radio में Ad देने में जितना पैसा, Efforts और समय लगता है उतने में Businesses आज Paid Ads रन करके अपने Objectives पूरे कर रहे हैं। 

इसकी मदद से आप कम पैसों में ही ज़्यादा लोगों तक पहुँच सकते हैं। 

हालांकि, यहां आपको यह तय करना होता है कि Ad पर एक क्लिक के बदले आप कितना पैसा खर्च करने के लिए तैयार हैं।

ऐसा देखा गया है कि High Competition Keywords पर अक्सर ज़्यादा बोली लगाई जाती है या यूँ कहें कि उनका CPC ज़्यादा होता है। 

इसलिए, आप अपने बजट अनुसार सही Keyword का चयन करके अपने Ad Campaigns Run कर सकते हैं।     

Measurable & Trackable

PPC Ads को Google के ज़रिये रन करने पर आप अपने Campaigns को Measure & Track कर सकते हैं। 

आप Google Analytics की मदद से Ad Impression, Ad Clicks, Conversion इत्यादि देख सकते हैं। 

Google Ads के ज़रिये आने वाले Traffic को आप अपने Landing Page या Website पर भेजकर Track कर सकते हैं कि लोग कितने समय तक आपके Page पर बने रहे, वेबसाइट के कौन-कौन से पेज पर वो गए और कितनों ने आपके Call To Action पर Click किया। 

इस तरह की Effective Targeting शायद ही किसी अन्य Advertising Strategy में मुमकिन हो।   

Works Well With Other Marketing Options

आपने ये कहावत ज़रुर सुनी होगी – “एक से भले दो।”

ये कहावत Marketing Industry में भी Apply होती है जिसके तहत आप Inorganic & Organic Digital Marketing Strategies को एक साथ Implement करके Unbelievable Result ला सकते हैं। 

आप PPC Advertising के साथ-साथ Search Engine Optimization पर भी फोकस कर सकते हैं। 

SEO पर फोकस करने से आपकी Website की Organic Ranking भी Boost होगी और यह भी पता लगेगा कि कौन-सा Keyword या ब्लॉग अच्छा Perform कर रहा है। 

क्योंकि PPC Ads & SEO, दोनों से ही आप Target Audience को Attract कर रहे हैं, आपको Proper Keywords के साथ-साथ User Behavior का भी पता लगेगा। 

ये आपको Retarget Ad Run करने में मदद करेगा और आप उन सभी लोगों तक दोबारा पहुँच पाएंगे जो पहले SEO या Paid Ads के ज़रिये आपकी Website पर Visit कर चुके हैं।  

SEO आपकी वेबसाइट के लिए क्यों ज़रूरी है जानिए इस ब्लॉग में। 

Immediate Result

PPC Advertising Kya Hai Or Kyun Zaruri Hai का यह आखिरी और सबसे बड़ा Benefit है। 

Organic Marketing Strategy की तुलना में PPC Marketing (Or Inorganic Marketing) से Immediate Result देखने को मिलता है। 

आपके Ad Campaign का चाहे कोई भी गोल हो, आप Short Time में अपनी Awareness Create कर पाते हैं और प्रोडक्ट्स और सर्विसेज़ को इच्छुक कस्टमर्स तक पहुँचा पाते हैं। 

PPC Advertising कैसे काम करती है?

PPC Advertising कैसे काम करती है

PPC Advertising, Pay Per Click के आधार पर काम करती है, जहां आपको Click Or Impression के बदले अपने Ad Network को पैसे देने पड़ते हैं। 

यहां Ad Network से तात्पर्य उन Platforms से है जो आपको Ad लगाने की सुविधा प्रदान करते हैं, जैसे – Google, Microsoft का Bing, Facebook, Instagram, LinkedIn, Etc. 

PPC Advertising को हम Google Ad के एक उदाहरण के ज़रिये समझ सकते हैं जो सबसे बड़ा Ad Network है और हर साल $200 Billion से भी ज़्यादा का Ad Revenue Generate करता है। 

मान लेते हैं कि आप एक Real Estate Agent हैं और गुड़गांव में अपने कुछ Flats Sell करना चाहते हैं। 

उन्हें बेचने के लिए आप PPC Ads Run करना चाहते हैं। 

सबसे पहले आपको कुछ Relevant Long Tail Keywords ढूंढने होंगे जिनके लिए आप Google Keyword Planner, UberSuggest, SEMrush जैसे SEO Tools की मदद ले सकते हैं। 

Relevant Keywords Find करने के बाद अगला स्टेप होता है अपने Competitors को देखना कि वो किन Keywords को टारगेट कर रहे हैं। 

अपने Ad को Google के First Page में सबसे ऊपर लाने के लिए आपको अपने Selected Keywords पर Bid लगानी होती है। 

यहां केवल आप ही Bid नहीं लगाते, बल्कि आपके Competitors भी ज़्यादा पैसों की Bid लगाकर अपने Ad को First Position पर रैंक कराना चाहते हैं। 

Real Estate Industry में डिजिटल मार्केटिंग का उपयोग कैसे होता है जानिए इस ब्लॉग में। 

अब यहां सबसे बड़ा सवाल आता है कि क्या केवल ज़्यादा पैसे लगाकर अपने Ad को Google पर सबसे ऊपर लाया जा सकता है?

इसका एक शब्द में जवाब है – नहीं !

ज़्यादा बोली लगाने के अलावा भी कई Factors होते हैं जो आपके Ad की Ranking को Impact करते है :

  • Keyword Relevancy
  • Budget & Bidding Amount
  • Quality Score
  • Targeting 

Keyword Relevancy : Google Ad Campaign चलाते वक्त यह ध्यान रखना होता है कि आप जो भी keywords Use करें वो आपके Target User के Search Query के Relevant हो। 

हालांकि ऐसा नहीं है कि आपका Keyword Exactly आपके User Query से मेल खाए लेकिन कुछ Similarities होनी ज़रूरी है। 

कोशिश करें कि Long Tail Keywords पर फोकस किया जाए क्योंकि लगभग 70% Traffic Long Tail Keywords पर ही आता है। 

साथ ही आप ये भी देख लें कि आपके Selected Keyword का CTR (Click Through Rate) ज़्यादा हो, इससे आपको Conversion में फायदा मिलता है।

इस प्रकार Keyword Relevancy को फोकस करने से Google भी आपके Ad को ऊपर दिखाने लगता है।  

Budget & Bidding Amount : Google पर Real Time Bidding होती है अर्थात आपको अपने Keyword पर बोली लगानी पड़ती है। 

इसे और साधारण शब्दों में समझा जाए तो आपको Google को बताना होता है कि अपने Keyword (Let’s Say “Best Digital Marketing Course In Dwarka”) पर Website को सबसे ऊपर दिखाने के लिए आप कितने पैसे देने के लिए तैयार हैं। 

इसे ही Cost Per Click या CPC कहते हैं। 

CPC के अलावा आप CPM (Cost Per Thousand Impression) Based Advertisement भी रन कर सकते हैं जहां हर 1000 Impressions पर आपके बजट में से कुछ Amount Deduct कर लिया जाता है। 

इस प्रकार, जो व्यक्ति सबसे अधिक पैसों की बोली लगाएगा, Google पर सबसे ऊपर दिखने की सबसे अधिक सम्भावना उसी की होगी। 

Quality Score : PPC Advertising (PPC Advertising Kya Hai) को सफल बनाने में Quality Score बहुत Matter करता है। 

Google जब आपके PPC Ad को, Ad Copy को और Landing Page को Relevancy & Quality के आधार पर Rating देता है तो उसे Quality Score कहा जाता है। 

अच्छा Quality Score आपकी Ad Rank को Improve करने में मदद करता है। 

इसे 1 – 10 के बीच Rate किया जाता है और 8 से 10 के Score को बेहतरीन माना जाता है। 

Quality Score Improve करने के लिए आपको निम्न Steps लेने होते हैं :

  • सही Keywords का चयन करें जो आपके Target User Queries के Relevant हों।  

  • Landing Page में अपने Keywords का इस्तेमाल करें, Loading Speed को सही करें और बेहतर User Experience Provide करें।

  • अपने Ad का Title & Description Catchy Or Appealing रखें ताकि New User उसे देखते ही क्लिक करे।  

Targeting : Keyword Relevancy के अलावा आप अपने Target Customers को उनके Demographic, Location, Device इत्यादि के आधार पर भी टारगेट कर सकते हैं। 

इससे आपके Ad की Relevancy भी बढ़ती है और आपको भी अनुमान लग जाता है कि कौन-सी Ad Copy किस Group के Target User के लिए अच्छा Perform कर रही है। 

इस प्रकार आप इन सभी Factors को ध्यान में रखकर अपने Ad Campaigns Execute कर सकते हैं और अपने Business Objectives पूरे कर सकते हैं। 

अगर आप इस ब्लॉग को यहां तक पढ़ चुके हैं तो मुझे पूरी उम्मीद है कि आप PPC Meaning In Hindi या PPC Advertising Kya Hai, Pay Per Click Ad Types, PPC Strategies को अच्छे से समझ गए होंगे। 

Conclusion - PPC Advertising Kya Hai?

आज के कंपटीशन के दौर में Businesses को चाहिए कि वो जल्द से जल्द अपने Target Market को Capture करें। 

इसके लिए सब उपयोगी और Profitable Method है Pay Per Click Advertising. 

PPC Advertising Kya Hai और क्यों आपके बिज़नेस के लिए ज़रूरी है, इसे हमने आज के ब्लॉग में जाना। 

PPC Advertising किसी भी बिज़नेस को उसके Target Customers तक पहुँचाने में मदद करती है – वो भी बहुत कम समय में। 

Cost Effective, Immediate Result, Better Targeting Option और न जाने कितने ही Benefits हैं इसके। 

लेकिन, अगर इसे Organic Digital Marketing Strategies (Like SEO) के साथ Combinedly Implement किया जाए तो Targeting कई गुना आसान हो जाती है। 

परन्तु, यहां सबसे बड़ा सवाल है कि PPC Advertising और अन्य Organic Digital Marketing Strategies को सीखा कैसे जाए?

दरअसल, इन Strategies को सीखने के लिए सबसे ज़रूरी है इनका Practical Implementation & Immediate Doubt Solving Support. 

ये सब मिलता है आपको Digital Azadi की हमारी Community में। 

इस Community के साथ जुड़ने से पहले आपको Popular Organic & Paid Marketing Strategies को जान लेना चाहिए, ताकि आप Decide कर सकें कि आपके बिज़नेस के लिए कौन-सी Strategy Most Effective होगी। 

यह जानने के लिए आप अभी रजिस्टर कीजिए इस Digital Marketing Masterclass के लिए जिसमे आपको Free & Paid Marketing Strategies के साथ-साथ कुछ Secret Tips भी Share की जाएंगी। 

तो जल्दी से रजिस्टर कीजिये, मिलते हैं आपसे Masterclass में Live. 

Share this post with your friends

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *