संदीप भंसाली - डिजिटल आज़ादी

Top 6 Types of SEO To Boost Your Organic Ranking

Top 6 Types of SEO To Boost Your Organic Ranking

क्या आप जानते हैं कि 50% से भी ज़्यादा Website Traffic Organic Search से आता है? 

यही नहीं, 95% से ज़्यादा Search Traffic, SERP में Ranked First Page पर जाता है। 

ऐसे में आपकी Website के रूप में आपके Brand की Presence होना और उसका रैंक होना बहुत ज़रूरी है। 

किसी भी Website को Search Engine Result Pages (SERP) में Rank कराने के लिए Free & Paid Digital Marketing Strategies का इस्तेमाल किया जाता है। 

Free Strategy में शामिल है Search Engine Optimization (SEO) !

वहीं Paid Strategy में शामिल है Search Engine Marketing (SEM) !

हम इन दोनों ही Strategies के बारे में अपने विभिन्न Blogs में बात कर चुके हैं। 

SEO को समझने के लिए हमारा यह Blog पढ़िए – The Ultimate SEO Fundamental Guide

SEM को समझने के लिए हमारा यह Blog पढ़िए – SEM For Business Growth     

जैसे कि हम SEO के बारे में पहले भी बात कर चुके हैं, यह एक ऐसी Organic Strategy है जिसकी मदद से Websites को SERP में Rank कराया जाता है। 

लेकिन, बेशक Website को रैंक कराने में थोड़ा समय लगे, परन्तु एक बार Rank होने पर Business की Profitability कई गुना बढ़ जाती है। 

अब क्योंकि SEO थोड़ा Complex Topic है, हम आपके लिए एक Complete SEO Series चला रहे हैं, जहां हम आपको SEO Basic से लेकर SEO Advance तक की पूरी जानकारी दे रहे हैं। 

आज के इस Blog में भी आपको SEO के बारे में कुछ Advance Information जानने को मिलेगी, जहां हम आपको विभिन्न SEO Types Hindi से रूबरू कराएंगे।

तो चलिए बिना देरी किये शुरू करते हैं आज का Blog – Different Types of SEO In Hindi 

Also Read : SEO Vs SEM In Hindi

Table of Contents

Types Of SEO | SEO के प्रकार

Types Of SEO SEO के प्रकार

SEO एक काफी बड़ा Topic है। अगर आप Internet पर Search करने निकलेंगे तो आपको बहुत से SEO Types देखने को मिल जाएंगे। लेकिन उनमे से सभी आपके काम के नहीं होते। 

इसलिए आज हम आपको 6 Important Search Engine Optimization Types के बारे में बताएंगे, जो आपके Business को लोगों तक पहुंचाने में मदद करेंगे। ये कुछ इस प्रकार हैं:

  1. On-Page SEO
  2. Off-Page SEO
  3. Local SEO
  4. Technical SEO
  5. White Hat SEO
  6. Black Hat SEO

आइये अब इन सभी Types को एक-एक करके विस्तार पूर्वक समझते हैं।  

On-Page SEO

On-Page SEO

On-Page SEO को कई बार On-Site SEO भी कहा जाता है, जिसका उपयोग Web Page Content को Optimize करने के लिए किया जाता है। 

On-Page SEO का मकसद होता है Page Structure को Optimize करना और Website पर Posted Content को Search Engine Crawlers से अवगत कराना ताकि वो समझ सके कि Content किस बारे में है और User Query के कितना Relevant है। 

जैसे-जैसे आप Relevant Content डालते रहते हैं और On-Page SEO Factors को Optimize करते रहते हैं, Search Engine समझ जाता है कि आपकी Website Relevant & Quality Information दे रही है। 

इससे Google अपने Algorithms में Listed Hundreds of Website Ranking Factors के आधार पर आपकी Website को Search Result में ऊपर लेकर आने लगता है और इस तरह आपकी Ranking Improve होने लगती है। 

चलिए बात करते हैं कि On-Page SEO करते वक्त आपको Website के किन Elements (On-Page SEO Eelements) को Optimize करना पड़ता है।    

On Page SEO Factors
  1. URL : URL किसी Webpage का Address होता है जिसे Online किसी के साथ भी Share किया जा सकता है। 

URL को हमेशा Short रखने की कोशिश करें, Suitable Keyword Use करें, और ध्यान रखें कि कोई Stop Word (E.g. a, in, the, your, etc.) Use न हो। 

2. Title Tag : आपके Post का Title जो Search Engine Result Page (SERP) में दिखता है, Title Tag कहलाता है।
Title Tag आपके Content के Relevant होना चाहिए और इसमें आपका एक Primary Focus Keyword ज़रूर होना चाहिए। 

साथ में कोशिश करें कि Title में कुछ Powerful Words Use करें, संख्या का Use करें, और इसे कुछ इस तरह से लिखें कि Reader इसे देखते ही इस पर Click कर दे और आपके Content को Read कर सके। 

3. Meta Description : Meta Description आपके Content का एक छोटा सा सार होता है या फिर यूँ कहें कि ये Words का एक ऐसा समूह होता है जिसे आप Search Engine & Users को दिखाना चाहते हैं। 

अपने Meta Description को To-The-Point रखना और उसमे Keyword Add करना बेहद ज़रूरी है। 

Title & Meta Description दो ऐसे Factors होते हैं जो आपकी Web Page पर अधिक Clicks लाने के लिए ज़िम्मेदार होते हैं। 

4. Content : Content को Crawlers & Users के लिए Optimize करना On-Page SEO की सबसे बड़ी प्राथमिकताओं में से एक है।  

आपको Relevant Content तो तैयार करना ही होगा, साथ ही Content की Quality पर भी ध्यान देना होगा। 

इसके लिए Keywords Placement, Sentence Formation, Detailing इत्यादि पर ध्यान देना पड़ता है। 

अपने Content के शुरुआती 100 शब्दों में Keyword को Place करें, Headings & Subheadings में Keywords Place करें, Content Body में Keywords Place करें, और Content के आखिर में भी Keywords को Place करें। 

ध्यान रखें कि Keyword Stuffing (बहुत अधिक Keywords Use करना या Repeat करना) न करें, अन्यथा Search Engine द्वारा Ban भी किया जा सकता है।  

इसके अलावा, Short Paragraphs लिखें और अपने Content को एक Proper Format & Detailing देने की कोशिश करें, जिससे पढ़ने वाले को भी एक अच्छा Experience मिल सके। 

इसे भी पढ़ें : Content Writing In Hindi

5. Heading & Subheadings Tag (H1, H2, H3) : Headings & Subheadings Tags से आप अपने Content को Content Body से अलग कर सकते हैं, जिससे Crawler को भी Content समझने में आसानी होती है। 

इन Headings & Subheadings में आपको अपने Primary Focus Keywords & Secondary Keywords (LSI) भी डालने होते हैं। 

6. Image Alt Attribute (Alt Txt) : क्योंकि Search Engine Crawlers हम इंसानो की तरह Images को नहीं पढ़ सकते, वो Text को Read करते हैं। ऐसे में आपको अपनी Images को कुछ नाम देना होता है, जिसे Image Alt Text कहा जाता है। 

आपको ऐसा नाम चुनना होता है जो आपकी उस Image को आपके Content के साथ Relevant बना सके। 

ध्यान रखिएगा कि नाम के साथ आपको अपना कोई Relevant Keyword भी Use करना होता है। 

7. Anchor Text :  ये कुछ ऐसे Words होते हैं जो किसी Keyword को Define कर रहे होते हैं और Clickable होते हैं, जिससे User इन पर क्लिक करके किसी अन्य Page पर Direct हो जाता है। 

उदाहरण के लिए – डिजिटल मार्केटिंग

8. Internal & External Links : Internal & External Linking भी On-Page SEO का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह Search Engine Crawlers को एक Positive Signal देता है कि आप Users को बेहतर Quality Provide कर रहे हो।

इससे आपके Linked Web Pages Rank होते हैं और SERP में आपकी Authority बढ़ती है।  

9. Mobile SEO : Mobile के लिए Website को Optimize करना Mobile SEO कहलाता है। 

आजकल Mobile Users की संख्या Computer Users की तुलना में लगातार बढ़ती जा रही है, इसलिए Mobile SEO Strategies को Implement करना ज़रूरी है। 

एक Mobile Optimized Website हमेशा Fast Load होती है जिससे उसका Bounce कम हो जाता है और वो User Friendly बन जाती है। 

Mobile SEO को हमने एक Complete Guide के माध्यम से समझाया है जिसका Title है –  

7 Step Framework To Optimize Website For Mobile SEO 

इस Guide को ज़रुर पढ़िएगा, आपको निश्चित ही कुछ नए Facts का पता चलेगा।  

इन सभी On-Page SEO Factors को समझने के बाद अब बात आती है Off-Page SEO Factors को समझने की। 

**On-Page SEO के बारे में और अधिक जानकारी के लिए पढ़िए हमारा Blog : Search Engine Optimized Content लिखने के 4 Golden Steps 

Off-Page SEO Factors भी उतने ही Important हैं जितने कि On-Page Factors. आइये इनके बारे में भी विस्तार पूर्वक जानते हैं। 

Also Read : SEO कैसे काम करता है?

Off-Page SEO

Off-Page SEO

क्या आप जानते हैं कि एक ऐसा SEO Type भी होता है जिसमे आपको अपनी Website को Optimize करने की ज़रूरत नहीं होती?

जी हाँ, उस SEO Type का नाम है Off-Page SEO!

इस SEO Process के तहत उन सभी External Factors पर ध्यान दिया जाता है जो एक Website को SERP में Rank कराने के लिए ज़िम्मेदार होते हैं। 

Off-Page SEO में दो चीज़ें सबसे ज़्यादा महत्व वाली होती हैं – Authority & Relevancy!

इन दोनों Factors को समझने से पहले हमें समझना होगा कि Off-Page SEO कैसे काम करता है। 

इस SEO Strategy में तीन सबसे महत्वपूर्ण Strategies शामिल होती हैं, जिनका नाम है Link Building, Social Media Marketing, Brand Building

Link Building से तात्पर्य होता है अपनी Website के लिए Backlinks Create करना। 

Backlinks हमेशा एक High Domain Authority, Page Authority, and Relevancy वाली Websites से Create करने होते हैं।

क्योंकि इन High Authority Websites से Backlinks मिलने का मतलब है उनकी Website का Link Juice आपकी Website पर Transfer होना, जो Ranking में बहुत फायदा करता है। 

वहीं Social Media Marketing and Brand Building में आपको अपने विभिन्न Social Media Platforms पर Profile Create करनी होती है और अपने Visitors के साथ Engage होना पड़ता है। 

आप उन्हें Content Marketing के माध्यम से Value Provide करते हैं और जिससे Search Engine को Positive Signal जाता है और Website की Ranking पर Positive Impact पड़ता है।  

**Off-Page SEO को हमने अपनी एक Detailed Off-Page SEO Guide में समझाया है, जहां हमने उसमे Link Building Techniques, Link Types, Social Media Marketing, and Brand Building के बारे में विस्तार से चर्चा की है। 

Local SEO

क्या आपका एक Offline Business है, दुकान है, या Factory है जहां पर आप रोज़ Physically जाकर अपना दिन गुज़ारते हैं और Customers से Deal करते हैं?

क्या आप चाहते हैं कि कोई ऐसा तरीका हो जिससे आपके Offline Business को अधिक से अधिक लोग जानने लगें, Store पर Customers आने लगें और आपकी Sale कई गुना बढ़ जाए?

यदि हाँ तो आपको अपने Business में एक Unique & Important SEO Strategy को Implement करना होगा जिसका नाम है Local SEO. 

Local Search Engine Optimization में आपको अपने Offline Business को अपने Local Customers & Search Engine के लिए Optimize करना होता है। 

आइये इसे एक उदाहरण के माध्यम से समझते हैं। 

मान लेते हैं कि आप दिल्ली में रहते हैं और Google पर सर्च करते हैं – Best Chinese Restaurant In Delhi 

आपको Results में कई Restaurants देखने को मिल जाएंगे। ये सभी Results अपने Local SEO के दम पर ही Rank कर रहे होते हैं। 

एक स्टडी के मुताबिक, 91% Consumers अपना Decision लेने से पहले Online Local Reviews पढ़ना पसंद करते हैं। 

ऐसे में यदि आप इस Strategy को Implement नहीं करेंगे तो आपको अपने नए Customers से हाथ धोना पड़ सकता है।    

आप चाहें तो अपने Business को Online भी Run कर सकते हैं, लेकिन यदि आपको लगता है कि आप Local Customers तक भी अपने Product or Services Sell कर पाएंगे तो आपको Search Engine Result में अपने Offline Business को Show करने के लिए Local SEO का सहारा लेना पड़ेगा। 

तो आइये अब बात करते हैं कि Local SEO को Implement कैसे किया जाता है।

Local SEO - तो आइये अब बात करते हैं कि Local SEO को Implement कैसे किया जाता है

Local SEO की शुरुआत होती है Google Listing Create करने से। 

Google Listing Create करने के लिए आपको Google My Business में अपना एक Account Open करना पड़ता है, जहां आपको ज़रूरत पड़ती है एक Email Id की। 

यहां आपको अपनी Business Profile Create करनी पड़ती है और अपने Local Store से जुडी जानकारी जैसे Business Name, Address, Contact Information, Opening Hours, Customer Reviews, इत्यादि डालने पड़ते हैं। 

इसके साथ ही आपको अपनी Listing को अपने Business की कुछ बेहतरीन Photos, Description, 5 Star Reviews की मदद से Optimize करना होता है। 

Google को समझाने के लिए Schema Markup Add करना पड़ता है, अपनी Specific Location & Region का चयन करना होता है, Google Map Add करना होता है। 

इसके अलावा, Keywords डालने होते हैं और कुछ Awards & Achievements Mention करने होते हैं, ताकि लोगों में Trust बन सके और वो आपके Local Business पर Visit कर सकें और Ultimately Customers में Convert हो सकें। 

यहां आप अपने Business की एक Dedicated Website भी Create कर सकते हैं ताकि लोग आपके Store पर Visit करने से पहले आपके Products & Services की पहले से ही जानकारी ले सकें। 

ध्यान रखिएगा कि आपकी Website Mobile Friendly हो और उसका Mobile SEO सही से हुआ हो। 

**Website का Mobile SEO कैसे करते हैं, इसे जानने के लिए पढ़िए हमारा Blog – 7 Steps Framework To Optimize Website For Mobile SEO

ये सभी Details डालने के बाद आपको अपने Business को Local Directories में Promote करना होता है। 

Local Business को Grow करने और Google की नज़रों में आने के लिए सबसे ज़रूरी है अपने Visitors & Customers को Quality Products & Services Sell करना। 

इससे आपके Business की Online चर्चा होने लगेगी और उस पर अच्छी Ratings आने लगेंगी, जिसे Google भी Notice करने लगेगा और Ultimately आपके Competitors की तुलना में आपके Business को रैंक करेगा। 

Local SEO के लिए हमारा एक Dedicated Blog आने वाला है, जिसमे हम आपको विस्तार से बताएंगे कि Local SEO क्या होता, ये क्यों ज़रूरी है, इसे Implement करने के लिए क्या-क्या Steps Follow करने पड़ते हैं, इत्यादि। 

तो आपको बने रहना है हमारी इस SEO Series में और इस ज्ञान को अर्जित करते रहना है। 

Also Read : Top 10 Digital Marketing Strategies For Small Business Owners

Technical SEO

Technical SEO

Technical SEO एक ऐसा SEO Type होता है जिसमे वो सभी Backend Actions होते हैं जो Search Engine Bots को आपके Web Pages को Crawl & Index करने में मदद करते हैं। 

इसे हम Website का Skeleton (कंकाल) भी कह सकते हैं, लेकिन सिर्फ Skeleton से बात नहीं बनने वाली। आपको इसे On-Page SEO & Off-Page SEO की मदद से मज़बूत बनाना पड़ेगा। 

इसके अंदर कुछ Internal Factors को Optimize करना होता है जिससे Crawling & Indexing Fast होती है। 

इसमें Website Speed को बढ़ाना, उसे Mobile Friendly बनाना, Sitemaps Upload करने जैसे Factors शामिल हैं।

यदि हम इसे एक Sentence में समझना चाहें तो हम कह सकते हैं कि Technical SEO में आपको Site Speed, Mobile Friendliness, Site Structure, Structured Data, Crawlability, Indexing, Security इत्यादि पर Focus करना पड़ता है। 

आइये अब Technical SEO की कुछ Activities को समझते हैं। 

  1. अपनी Website का Design Responsive रखें ताकि वो किसी भी Device पर सही तरीके से Open हो सके और User को एक अच्छा Experience दे सके। 
  2. अपनी Site पर HTTP की जगह HTTPS का Use करें ताकि आपकी Website Secure हो सके और उस पर कोई Man-In-Middle Attack न हो पाए। 

इसके अलावा HTTPS को Implement करने से आपकी Website का Bounce Rate भी कम होता है, क्योंकि एक Insecure Site पर जल्दी से लोग Enter नहीं करते और अगर करते भी हैं तो बहुत जल्द वापस आ जाते हैं।  

3. अपनी Website पर Schema Markup का Use करें जिससे Crawlers आपके Page की Information को समझ सके, Categorize कर सके, और Crawling & Indexing Fast हो।

4. Technical SEO Perform करते वक्त Robots.txt को Update करना न भूलें। 

5. अपनी Website के Broken Links (Internal & External) को Fix करना न भूलें तथा Redirects को Properly Add करें। 

6. अपनी Website पर Posted Thin & Duplicate Content को Update करना न भूलें। इससे Crawling में दिक्कत आती है और User Experience भी अच्छा नहीं होता।

तो आपको कुछ इस तरह की Activities Perform करनी पड़ती हैं और अपने Overall User Experience को सुधारना पड़ता है।     

यहां आप अपने Website के लगभग सभी Technical Errors को Check & Analyze करने के लिए Google Webmaster Free Tool का Use कर सकते हैं।  

White Hat SEO

White Hat SEO

White Hat SEO उन सभी Optimization Practices का Combination होता है जो Google Search Engine Guidelines को ध्यान में रख कर Implement की जाती हैं। 

वैसे तो इसमें शामिल सभी Strategies Organic होती हैं जिनसे Result आने में थोड़ा समय लग जाता है, लेकिन जब भी कोई New Algorithm Update आता है तो आपकी Website Down नहीं होती। 

क्योंकि, इसमें Used सभी Practices Legit होती हैं और Google Guidelines को Follow करते हुए Implement की गई होती हैं, ऐसे में इसे एक Low Risk & High Reward SEO Strategy भी कहा जा सकता है। 

यहां हम आपको बताना चाहेंगे कि White Hat SEO में कुछ अलग Steps नहीं Perform किये जाते, बल्कि On-Page, Off-Page, and Technical SEO की Tactics को ही Legit तरीके से और Google Guidelines को Follow करते हुए Use किया जाता है। 

यदि फिर भी हम White Hat SEO Tactics की बात करें तो इसमें शामिल है,

  1. Quality Content Produce करना जो Long Form हो और किसी अन्य Website से Copy नहीं किया गया हो। 
  2. Proper Keyword Research, Keyword Placement करना और Keyword Stuffing को Avoid करना। 
  3. Legit Ways से Link Building या Backlinks Create करना जैसे Blogger Outreach & Guest Blogging. 
  4.  अपनी Website को Responsive & Mobile Friendly बनाना। 
  5. अपनी Website Loading Speed को बेहतर बनाने की दिशा में कार्य करना। 
  6. अपने Old Content को लगातार Update करते रहना। 
  7. अपनी Site Navigation को बेहतर बनाने की दिशा में कार्य करना। 
  8. अपनी एक Proper Online Presence बनाना जहां आप Articles, Videos, Infographics इत्यादि Content लगातार Post करते रहें। 

ये सभी Steps आपके White Hat SEO में शामिल हैं जिन्हें आप यदि लगातार Implement करते रहेंगे तो आपकी Website पर Search Engine Algorithms Updates का ज़्यादा असर नहीं पड़ेगा।  

Black Hat SEO

Black Hat SEO

Black Hat SEO में वो सारी Unethical Practices शामिल होती हैं जिनका उपयोग Website को Search Engine में Quickly Rank कराने के लिए होता है। 

इन Practices को Search Engine Guidelines Follow किये बिना ही Implement किया जाता है। 

ये Practice Fast Result ज़रुर देती हैं परन्तु Temporary होती हैं और Search Engine की कोई भी नई Update आने से Website को Down या Ban करवा देती हैं। 

इसलिए इन Practices को अपनाना आपकी Website और Ultimately आपके Business के लिए एक घाटे का सौदा साबित हो सकता है। 

Black Hat SEO में निम्न Tactics शामिल होती हैं:

  1. Keyword Stuffing करना, मतलब एक Article में Search Engine Crawlers को Impress करने और Relevancy का Signal देने के लिए ज़बरदस्ती कई बार एक ही Keyword को Use करना। 
  2. Spammy Backlinks Create करना और Paid Link Building Methods का Use करना। 

कुछ लोग अपनी Site को जल्दी रैंक करने के लिए Fiverr जैसी Freelancing Website से केवल कुछ पैसों में हज़ारों Irrelevant Backlinks खरीद लेते हैं। 

यदि ये एक बार Search Engine की नज़रों में आ जाते हैं तो Site का Down होना लगभग तय होता है। 

3. Cloaking करना, जिसके तहत Website Owners एक ही नाम से Crawlers & Users के लिए अलग-अलग तरह का Content Create करते हैं। 

4. Hidden Texts & Links का Use करना।

5. Thin & Duplicate Content का Use करना। 

6. Article Spinners का Use करके अपनी Website पर Spinned Articles को Use करना, जिसमे पहले से लिखे Article को ही Spin करके उसकी अनेक Copies बनाई जा सकती हैं।  

7. Doorway Pages का Use करना, जो केवल Keywords से भरा होता है और उसमे Relevant Information नहीं होती और ऐसे Links होते हैं जो Users को Irrelevant Pages की तरफ Direct कर रहे होते हैं। 

ये सभी Tactics Black Hat SEO में Consider की जाती हैं। ऐसे लोग कभी न कभी Google की नज़रों में आ ही जाते हैं और उनकी Website भी Ban हो जाती है। 

इसलिए जितना हो सके केवल Ethical Ways का सहारा लेकर ही अपनी Website को SERP में Rank करें। 

Conclusion

Search Engine Optimization किसी भी Website को Search Engine Result Pages में Rank कराने के एक बेहतरीन Organic तरीका होता है। 

Search Engine Optimization के विभिन्न Types होते हैं जिनमे से आज हमने कुछ महत्वूर्ण SEO Types के बारे में इस Blog में पढ़ा। 

Website को Optimize करने के लिए उसके Internal Factors के साथ-साथ कुछ External Factors को भी Optimize करना ज़रूरी है। 

ध्यान ये रखना चाहिए कि हमेशा आप Legit Ways का Use करके ही Website को Rank कराने की कोशिश करें। 

लेकिन, दूसरी ओर कुछ ऐसे लोग भी हैं जो अपनी Website को जल्दी Rank कराने के लिए कुछ गलत Strategies का Use करते हैं और कुछ समय बाद कोई Update आने पर पकड़े जाते हैं और उनकी Site Ban हो जाती है। 

Website आपकी Digital Dukaan है, ऐसे में इसे आप Ban नहीं होने दे सकते। 

इसलिए केवल सही तरीकों को ही Implement करके अपनी Website पर Traffic लेकर आएं। 

अब यदि आप और विस्तार से इन Legit Ways को जाना चाहते हैं और Practically उन सभी Steps को समझना चाहते हैं तो आपको ज़रूरत पड़ेगी एक Mentor की जो आपको इस Journey में Guide कर सके और सही गलत में फर्क बता सके। 

यदि आप ऐसे ही एक Mentor की तलाश में हैं तो जुड़िये मेरे यानि संदीप भंसाली के साथ। मैं हिंदी में Digital Marketing सिखाता हूँ और SEO समेत अन्य High Income Skills का ज्ञान Practically अपने Students को देता हूँ। 

Share this post with your friends

2 Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published.