संदीप भंसाली - डिजिटल आज़ादी

Digital Marketing For Lawyers – How To Attract More Clients In Just 7 Steps

Digital Marketing For Lawyers - How To Attract More Clients In Just 7 Steps

क्या आप एक Lawyer हैं और Clients लाने के लिए आज भी Referrals पर निर्भर हैं?

आज के इस डिजिटल युग में एक Lawyer या Law Firm को सिर्फ Referrals के सहारे नहीं रहना चाहिए, बल्कि Online Presence Create करके अपनी Marketing करनी चाहिए। 

आज आधे से ज़्यादा दुनिया इंटरनेट का इस्तेमाल करती है, ऐसे में आपको Online आना चाहिए ताकि  Potential Clients आपकी Online Visibility & Reputation देखकर आपसे संपर्क कर सकें। 

एक रिपोर्ट के मुताबिक, आज हर तीन में से एक व्यक्ति Reputed Lawyer तक पहुँचने के लिए ऑनलाइन रिसर्च से शुरुआत करता है। 

इसलिए आज के इस डिजिटल युग में Online Or Digital Presence बहुत Matter करती है। 

पर सवाल है कि Effective Online Presence कैसे बनाई जाती है?

क्या सिर्फ YouTube पर Videos Upload करने से ये संभव है या Instagram पर Reels बनाने से ये मुमकिन है या इसके लिए Informative Blogs Publish करने की ज़रूरत है?

दरअसल, इसके लिए आपको Digital Marketing For Lawyers को समझना पड़ेगा जिसकी मदद से आप अपना Digital Ecosystem बना पाएंगे। 

इस Concept को हम आज के Blog में Detail में Cover कर रहे हैं। 

तो आइये शुरु करते हैं आज का Blog – Digital Marketing For Lawyers In India और समझते हैं कुछ Secret Strategies जिनके इस्तेमाल से Referral पर आपकी निर्भरता कम हो जाएगी और आपके पास Clients खुद आने लगेंगे।

Also Read : Digital Marketing For Professionals – 9 Benefits of Using Online Marketing 

Table of Contents

Challenges Faced By Lawyers Or Law Firms

Challenges Faced By Lawyers Or Law Firms

How To Implement Digital Marketing For Law Firms समझने से पहले हमें ये समझना ज़रूरी है कि एक Lawyer को अपने Profession में किन-किन Problems या Challenges का सामना करना पड़ता है। 

Lawyer होना एक Serious & Complex Profession माना जाता है जहां एक साथ Multiple Clients को Handle करना होता है और ऊपर से Case जीतने का Pressure अलग होता है। 

यही नहीं, Lawyers को अपनी Authority बनाना, लोगों में Trust Develop करना जैसे Challenges भी Face करने होते हैं।  

इनके अलावा अन्य Challenges भी होते हैं जो कुछ इस प्रकार हैं : 

Competition In The Market

जिस प्रकार अपने देश में Engineers की संख्या तेज़ी से बढ़ रही है उसी प्रकार Graduate Lawyers की संख्या में भी लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। 

पर, Graduate Lawyers की तुलना में मार्केट में उतनी Jobs नहीं नहीं है।   

Bureau Of Labor Statistics के मुताबिक, अगले दस सालों में Lawyers की Employment में 10% की Growth का अनुमान है।  

इतनी Slow Employment Rate के कारण आज ऐसा समय आ गया है कि जितनी Job Opportunities नहीं हैं उससे ज़्यादा तो Lawyers Graduate हो रहे हैं।

ऐसे में Competition बढ़ रहा है जिस कारण New Lawyers को Jobs नहीं मिलती और वो अपनी Practice के लिए किसी ऐसे Firm को Join कर लेते हैं जहां उन्हें कम पैसे देकर बहुत ज़्यादा काम कराया जाता है। 

इन Firms में उनकी कोई पहचान नहीं होती और उनसे कई घंटे काम कराया जाता है या यूँ कहें कि उनका Exploitation किया जाता है।  

Challenges Faced By Lawyers Or Law Firms -Competition In The Market

Technology के साथ Upgrade होना

Technology को Adopt करना Lawyers के लिए एक बहुत बड़ा Challenge होता है। 

Technology के कारण ही आज देश-दुनिया में कई बड़े बदलाव देखे गए हैं और ऐसे Softwares & Tools आ गए हैं जिन्होंने कार्यों को आसान बना दिया है। 

लेकिन, आज भी कई Lawyers अपने Database & Case Record के लिए Files & Diaries Maintain रखना पसंद करते हैं।

ये इतना कारगर नहीं होता लेकिन फिर भी Lawyers इसे Safe & Secure समझते हैं क्योंकि उन्हें Online Database के बारे में अधिक जानकारी नहीं होती। 

New Clients लेकर आना

नए Clients बनाना एक सबसे बड़ा Challenge है जो अक्सर Lawyers Or law Firms को Face करना पड़ता है। 

आम तौर पर New Clients लाने के लिए Referrals के भरोसे रहना पड़ता है। अगर आपको कोई जानता है तो केवल वो व्यक्ति ही आपके पास अपना Case लेकर आता है, या वो किसी अन्य व्यक्ति को आपके पास Refer कर देता है। 

लेकिन, इस तरीके से आप ज़्यादा लोगों तक नहीं पहुँच पाते, आपकी Reach Limited होती है और आपकी कोई Identity या Authority भी नहीं होती है।

इन्हीं कारणों की वजह से कोई New Prospect आपको न तो जान पाता है और न ही आपके पास आ पाता है। 

Other Lawyer’s Low Cost Offers

एक Lawyer के सामने अपने Existing Clients Loose करने का भी Challenge होता है। 

आजकल ऐसा देखा गया है कि अन्य Lawyers Or Law Firms Same Legal Service के लिए कम पैसे Charge कर देते हैं जिससे उनके पास New Clients तो आते ही हैं साथ ही दूसरे Lawyers के Existing Clients भी उनकी तरफ Shift हो जाते हैं। 

इससे Individual Lawyers का पूरा Client Base Impact होता है और लोगों की नज़रों में उनकी Value कम होने लगती है।    

इस तरह की Job Insecurity से बचने का रामबाण इलाज है अपनी Online Presence बनाकर एक Authoritative & Known Lawyer बनना। 

इसके लिए ज़रूरत है Digital Marketing For Lawyers को अच्छे से समझने की और इसमें शामिल सभी Strategies को Implement करने की।

Challenges Faced By Lawyers Or Law Firms - Other Lawyer’s Low Cost Offers

अपनी Reputation बनाना

Competition बढ़ने से आज New Lawyers किसी भी छोटे-मोटे Legal Firm के साथ जुड़ जाते हैं और अपनी Practice करने लगते हैं। 

लेकिन, क्या ऐसा करने से उनकी कोई पहचान बनती है या वो एक Known & Popular Lawyer बन पाते हैं?

नहीं, क्योंकि ऐसा केवल तभी हो सकता है जब वो लोगों के सामने खुद को प्रस्तुत करें और अपनी एक Image बनाएं। 

ऐसे में डिजिटल मार्केटिंग की मदद ली जाती है जो आपकी Unique Image बनाने से लेकर आपको एक अलग पहचान दिलाती है और Online Visibility को बढ़ाती है। 

आप अपने Regular Cases Handle करने के साथ-साथ Online Consultation भी कर सकते हैं। इससे खुद ब खुद आपकी Reputation बढ़ने लगती है। 

Lawyers की इन Problems या Challenges को समझने के बाद आइये अब समझते हैं कि Digital Marketing क्या होती है और एक Lawyer के लिए किस प्रकार फायदेमंद होती है।  

Also Read : 10 Biggest Challenges In Digital Marketing Industry

Digital Marketing क्या है - What Is Digital Marketing For Lawyers

What Is Digital Marketing For Lawyers

Digital Marketing एक ऐसी Marketing Technique होती है जिसमे Online Mediums के ज़रिये अपने प्रोडक्ट्स और सर्विसेज़ को Interested लोगों तक पहुँचाया जाता है और उन्हें अपने साथ जोड़ा जाता है। 

इसके लिए इंटरनेट, कंप्यूटर, सोशल मीडिया, वेबसाइट, ईमेल जैसे Tools & Platforms का Use किया जाता है। 

अब अगर Digital Marketing For Lawyers In India की बात करें तो इसके ज़रिये Organically (Free) & Inorganically (Paid) तरीकों से Potential Clients को Attract किया जाता है। 

Organic तरीकों में Content Marketing, Website And Social Media Optimization का Use किया जाता है जबकि Inorganic (Or Paid) तरीकों में Social Media Ads, Search Engine Ads जैसी Popular Digital Marketing Strategies का Use किया जाता है। 

आइये अब समझते हैं कि Lawyers के लिए डिजिटल मार्केटिंग क्यों ज़रूरी है (Importance Of Digital Marketing For Lawyers In India) और इससे उन्हें क्या फायदे मिलते हैं। 

Also Read : 6 Steps में Digital Marketing कैसे सीखें 

Importance Of Digital Marketing For Lawyers Or Law Firms

Importance Of Digital Marketing For Lawyers Or Law Firms

आज जब हर साल हज़ारों Lawyers Graduate हो रहे हैं, एक नए Lawyer को अपनी जगह बनाने और अच्छी छवि बनाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है। 

लेकिन, अगर आप अपनी Knowledge को बांटते हैं और Digital Marketing की विभिन्न Strategies का उपयोग करते हैं तो आप बिना Newspaper Ad, Banner या Poster के भी अपने Potential Clients को Attract कर पाते हैं। 

इसे डिजिटल मार्केटिंग की एक Advantage ही कहेंगे कि आपको Clients लाने के लिए अपने Office से बाहर भी नहीं निकलना पड़ता। 

इसके अलावा Digital Marketing For Lawyers In Hindi के कई सारे Benefits हैं :

  • आप Educational & Informational Content Create करके लोगों को आकर्षित कर सकते हैं और उन तक पहुँच सकते हैं। यह Organic तरीका है जिसमे आपको Client Acquire करने और अपनी Presence बनाने में थोड़ा समय लग सकता है। 

  • अपनी YouTube Videos & Shorts बनाकर Interested लोगों को अपनी Website पर Divert कर सकते हैं जहां से वो आपके बारे में और अधिक जानकारी ले सकते हैं, आपकी Profile Analyze कर सकते हैं, आपके Testimonials & Certifications देख सकते हैं और अंततः आपको Contact कर सकते हैं। 

  • डिजिटल मार्केटिंग आपकी Authority & Credibility बनाने में मदद करती है जिससे अन्य हज़ारों Lawyers में आपकी एक अलग पहचान बनती है और लोग आपको आपके नाम से जानने लगते हैं। 

  • डिजिटल मार्केटिंग आपकी Personal Branding के लिए ज़िम्मेदार होती है। Personal Brand बनने के बाद Clients Acquire करने के लिए बहुत कम ज़द्दोज़हद करनी पड़ती है और लोग खुद आपसे या आपके Legal Firm के पास अपने Cases लेकर आने लगते हैं। 

  • Online Presence बनाने से आप अपनी Services को अपने Potential Clients के अनुसार Tailor कर पाते हैं जिससे आपके पास Exactly वही लोग आते हैं जिन्हें किसी Legal Advice की ज़रूरत होती है।

  • आप कम पैसे और समय में ज़्यादा लोगों तक पहुँच पाते हैं और अपनी Service से लोगों की मदद कर पाते हैं। 

ये सभी Benefits इसी ओर इशारा करते हैं कि जो Lawyer डिजिटल मार्केटिंग का Effective Use कर लेता है उसके सामने Clients Acquire करने वाले लगभग सभी Challenges लगभग खत्म हो जाते हैं। 

उम्मीद है आपको ये सभी Digital Marketing Benefits For Lawyers समझ आये होंगे। 

अब समय है उन सभी Digital Marketing Strategies पर प्रकाश डालने का जिनके बगैर आज का यह Blog  – Digital Marketing For Lawyers In India अधूरा है। 

Related Content : 

Digital Marketing Doctors Dentists In India – 5 Step Implementation Plan

Digital Marketing For Teachers – 5 Step Strategy To Create Your Online Presence

7 Step Digital Marketing Strategies For Law Firms Or Lawyers To Attract Quality Clients

डिजिटल मार्केटिंग के इतने सारे फायदे होने के बावजूद आज भी कई Lawyers & Law Firms इसे सही से Utilize नहीं करते। 

Legal Marketing Association ने वर्ष 2018 में एक सर्वे जारी किया जिसके मुताबिक 50% Legal Professional कहते हैं कि उन्होंने अपनी Marketing Strategy का केवल 15% बजट Digital Marketing में Allocate किया हुआ है। 

इससे यही समझ आता है कि कई Law Firms आज भी Traditional Marketing (Like Billboards, Newspaper Ads, Radio Ads, Posters) इत्यादि को ज़्यादा महत्व देते हैं।

लेकिन, अगर आप डिजिटल मार्केटिंग रणनीतियों को सही से इस्तेमाल करते हैं तो आप हज़ारों-लाखों Lawyers या Law Firms की भीड़ में भी अपनी अलग पहचान बना सकते हैं। 

Digital Marketing Strategies Use करके आप अपना Digital Ecosystem Create कर लेते हैं जिसकी मदद से आप Digitally अपने Potential Client को Attract कर पाते हैं। 

आइये 7 Step में समझते हैं Digital Marketing For Law Firms को और देखते हैं कि आप अपना Digital Ecosystem कैसे बना सकते हैं।   

इसे भी पढ़ें – Digital Ecosystem से कमाई के 5 बेहतरीन तरीके 

Step 1 - अपनी Target Audience को Clearly Define कीजिए

7 Step Digital Marketing Strategies For Law Firms Or Lawyers To Attract Quality Clients - Step 1 - अपनी Target Audience को Clearly Define कीजिए

डिजिटल मार्केटिंग की मदद से आप Exactly उन लोगों तक पहुँच पाते हैं जिन्हें Legal Help की ज़रूरत है। 

लेकिन, इसके लिए सबसे पहले आपको अपनी Target Audience को समझना पड़ेगा। 

आपको उनके Pain Points & Problems को समझकर आगे की Strategy बनानी पड़ेगी। 

Internet पर 5 Billion से भी ज़्यादा Users हैं, ऐसे में इस बात की सम्भावना बहुत ज़्यादा है कि आपके Target Audience भी इंटरनेट पर आपकी Services ढूंढ रहे हों। 

आपको बस अपने Ideal Clients की Research करनी है और अपने Existing या Offline Clients को Analyze करना है।  

Target Audience Define करने से आपको समझ आ जाता है कि किन लोगों को अपनी Service Provide करनी है। 

आप To The Point Content Create कर पाते हैं और अपनी Advertisement Strategy को बेहतर बना पाते हैं।

Step 2 - अपनी Professional Website Design कीजिए

7 Step Digital Marketing Strategies For Law Firms Or Lawyers To Attract Quality Clients - Step 2 - अपनी Professional Website Design कीजिए

Digital Marketing For Advocates का यह दूसरा ज़रूरी स्टेप है। 

Website आपका Digital Office होती है जहां आप अपनी और अपने Law Firm की Information, अपने Certifications, Clients Served, Cases Solved, Testimonials, Awards, Clients Database इत्यादि रख सकते हैं। 

इससे आपकी Authoritative & Credible Law Firm की छवि बनती है और Trust Build होता है। 

Website बनाने के पश्चात आपको अन्य किसी भी तरह की File या Database रखने की ज़रूरत नहीं होती। 

वेबसाइट बनाने से पहले इन ज़रूरी Website Design Factors को भी जान लीजिये। 

लेकिन, अक्सर ऐसा सोचा जाता है कि Website बनाना एक बहुत बड़ा काम है जिसमे Coding वगैरह चाहिए होती है और उसे IT Professional ही कर सकते हैं। 

पर, यह सच नहीं है। 

आज ऐसे कई Content Management Systems मौजूद हैं जिनकी मदद से सिर्फ Drag & Drop करके बेहद खूबसूरत और प्रोफेशनल वेबसाइट बनाई जा सकती है। 

ऐसे ही एक Content Management System का नाम है WordPress, जो एक Free & World’s Most Popular CMS है। 

WordPress पर वेबसाइट बनाने के लिए आपको सिर्फ Domain & Hosting खरीदने की ज़रूरत होती है जो Rs. 1000 महीना में आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं। 

Website की Importance जानने के लिए इस Blog को पढ़ना न भूलें।

Step 3 - Website को Search Engine के लिए Optimize कीजिए

7 Step Digital Marketing Strategies For Law Firms Or Lawyers To Attract Quality Clients - Step 3 - Website को Search Engine के लिए Optimize कीजिए

Website बनाने और उस पर अपनी Details डालने के बाद उसे Search Engine (यानि Google, Bing, Etc.) के लिए Optimize भी करना होता है। 

इसके लिए आपको Search Engine Optimization (SEO) Process को Follow करना होता है जो आपकी Website को Google जैसे सर्च इंजन पर सबसे ऊपर रैंक करने में मदद करता है। 

SEO के अंतर्गत कुछ Internal & External Factors को Optimize करना होता है और Website की कुछ Technicalities को Improve करना होता है। 

Website को रैंक करने के लिए ज़रूरी इन 6 Types Of SEO को ज़रूर पढ़िए। 

एक व्यक्ति, जिसे Legal Services चाहिए, Google पर सर्च करता है और उसे आपकी वेबसाइट सबसे पहले नज़र आ जाती है जिस पर क्लिक करके वो आपके बारे में पढ़ता है, समझता है और समझ आने पर आपसे Consult करता है। 

इस तरह वेबसाइट पर Quality Traffic आने लगता है जिन्हें आपकी Services चाहिए होती हैं और वो सर्च करते हुए आप तक पहुंचे होते हैं।  

एक Lawyer Or Law Firm के लिए SEO को समझना बहुत ज़रूरी है जिसके लिए आप इन Blogs को पढ़ सकते हैं:

Step 4 - Google My Business & Local Directories पर अपने Law Firm की Details Fill कीजिए

Digital Marketing For Law Firms In India का अगला स्टेप है अपने Law Firm को Local Area के लिए Optimize करना। 

इसके लिए सबसे ज़रूरी है कि आप अपनी Law Firm की डिटेल्स Google My Business & Local Directories पर डालें। 

Details डालते वक्त आपको अपने Law Firm का Name, Address, Contact No., Opening & Closing Hours, Services, Local Keywords, Tags इत्यादि की जानकारी देनी होती है।  

यही सब जानकारी आपको Local Directories (Like Just Dial, Sulekha, Myadvo, Path Legal, Yellow Pages, Etc.) पर भी Share करनी होती है। 

ऐसा करने से आपका Law Firm Google पर आपके Local Area में सबसे ऊपर रैंक करता है और आपके पास Local Directories से भी Enquiries आने लगती हैं।  

For E.g. आप Dwarka में रहते हैं और यहीं अपनी Law Firm चलाते हैं तो अब यदि कोई व्यक्ति Google पर सर्च करता है “Best Criminal Lawyer In Dwarka” तो Google सबसे ऊपर उसे आपका नाम दिखाता है। 

इस तरह आपके पास Traffic आता रहता है और आपका Business Smoothly चलता रहता है। 

इस पूरे Process को Local SEO कहा जाता है जो Lawyers को अपने Local Area के Clients लेने में मदद करता है। 

Step 5 - Relevant Social Media Channels पर Profile बनाइए

7 Step Digital Marketing Strategies For Law Firms Or Lawyers To Attract Quality Clients - Step 5 - Relevant Social Media Channels पर Profile बनाइए

Social Media के Craze से हम सब वाकिफ हैं। आज दुनिया में 4.5 Billions से ज़्यादा लोग Social Media Use करते हैं। 

ऐसे में आपके लिए Social Media Platforms पर उपस्थित होना ज़रूरी हो जाता है। 

YouTube, Facebook, Instagram, LinkedIn, Twitter जैसे Platforms को लगभग हर दूसरा व्यक्ति Use करता है।  

आपको अपनी Target Audience के अनुसार Relevant Platform पर Profile Create करनी चाहिए। 

ऐसा ज़रूरी नहीं कि आपके लिए सभी Platforms उचित हों, केवल उन्हीं Platforms को Select कीजिए जिन पर आपके Ideal Clients सबसे ज़्यादा समय बिताते हैं। 

इसे भी पढ़िए – Instagram के ज़रिये पैसे कमाने के 7 बेहतरीन तरीके 

Step 6 - Informational Content Create करके उसकी Marketing कीजिए

7 Step Digital Marketing Strategies For Law Firms Or Lawyers To Attract Quality Clients - Step 6 - Informational Content Create करके उसकी Marketing कीजिए

Profile Create करने के बाद आपको Platforms पर Educational & Informational Content Create करना है। 

Content Create करते वक्त ध्यान रहे कि उससे आपके Target Audience की Problem Solve हो रही हो या उसमे कुछ ऐसी जानकारी हो जिसे देखकर या पढ़कर लोग आपकी Website पर आने के लिए मज़बूर हो जाएं। 

आप YouTube पर Videos बना सकते हैं, Instagram पर Posts & Reels बना सकते हैं, उन्हें Viral करने के लिए उनमे Trending Music का Use कर सकते हैं, Website पर Informative Blogs Publish कर सकते हैं। 

Content Create करने के साथ-साथ उसे Market करना भी ज़रूरी है जिसे Content Marketing कहा जाता है।

Content Marketing के अंतर्गत आपको Content Create करने के बाद उसे Promote करना होता है और एक Content Piece को अलग-अलग Channels पर Repurpose करके Distribute करना होता है। 

For E.g. आप अपने Blog को YouTube Video में Repurpose कर सकते हैं, YouTube Video में से छोटी-छोटी Clips लेकर Shorts या Reels बनाकर Instagram पर डाल सकते हैं और Blogs में से कुछ Valuable Content उठाकर अपने LinkedIn Profile पर पोस्ट कर सकते हैं। 

Also Read – 9 Best Practices For Effective Content Creation

Step 7 - Paid Advertisement की मदद लीजिए

Digital Ecosystem बनाने का यह आखिरी और सबसे Important Step है। 

Paid Ads या PPC Ads एक Fast Way है जिसके ज़रिये अपने Target Clients तक पहुंचा जा सकता है।  

Paid Advertisement में आप Google, YouTube, Facebook, Instagram, LinkedIn जैसे Platforms पर Ads Run कर सकते हैं और उन लोगों तक पहुँच सकते हैं जो कोई Legal Service Advisor को ढूंढ रहे हैं। 

Ads Set Up करते समय आपको अपने Ideal Clients को Filter करने का Option मिलता है जिसके बाद आपका Ad केवल Filtered Audience को ही दिखाया जाता है। 

दूसरे शब्दों में कहें तो आपका Ad केवल उन ही लोगों को दिखाया जाता है जो Best Lawyer या Law Firm को ढूंढ रहे हैं, Legal Information लेने के लिए Google पर बार-बार सर्च कर रहे हैं या Instagram & Facebook पर Law Related Content ज़्यादा Consume कर रहे हैं। 

Basically, ये अभी Ad Platform आपके Target Audience के Interest, उनकी Online Activity, Search History इत्यादि को Analyze करते हैं। 

इस प्रकार इन सभी 7 Steps को सफलतापूर्वक कम्पलीट करने के पश्चात् आपका Digital Ecosystem बनकर तैयार हो जाता है। 

ध्यान रहे कि आपको अपने Digital Ecosystem को बनाकर छोड़ना नहीं है, इसे लगातार Active रखना है ताकि आपके पास Quality Leads आते रहे और Clients में कन्वर्ट होते रहें। 

उम्मीद है कि आपको Digital Marketing For Law Firms In India के Concepts अच्छे से समझ आ गए होंगे। 

Lead Generation को विस्तार से समझिये इस ब्लॉग में।

Conclusion

आज लगभग हर Service Provider के लिए Traditional Marketing की बजाय Digital Marketing के सिद्धांतों को अपनाना ज़रूरी हो गया है। 

आज हर व्यक्ति कुछ घंटे सोशल मीडिया पर ज़रूर Spend करता है और अपने Interest की चीज़ों को देखना पसंद करता है। 

ऐसे में आज कम पैसा खर्च करके कम समय में अपने Ideal Clients तक पहुंचना बहुत आसान हो गया है। 

इसके लिए Website बनाने से लेकर उसे सर्च इंजन के लिए Optimize करना, सोशल मीडिया पर Content Create करना, Paid Ads जैसी Digital Marketing Strategies की मदद ली जाती है। 

इन सभी Strategies को हमने आज के इस Blog – Digital Marketing For Lawyers In India में समझा और इनसे मिलने वाले फायदों को देखा। 

लेकिन, सबसे बड़ा सवाल है कि Theoretically तो हमने समझ लिया कि इन्हें कैसे Implement किया जाता है लेकिन Practically कैसे किया जाए?

इसके लिए आपको Digital Azadi Community के साथ जुड़ना होगा जहाँ मैं यानि संदीप भंसाली आप जैसे अन्य कई Lawyers, Doctors, Homemakers, Business Owners, Salaried People को डिजिटल मार्केटिंग सिखाता हूँ वो भी Live. 

हमारी इस Community में जुड़ने के लिए मैं आपको एक Free Digital Marketing Masterclass के लिए Invite करता हूँ, जहां हम Digital Ecosystem को और Deeply समझेंगे। 

तो जल्दी से रजिस्टर कीजिये इस Masterclass के लिए, मिलता हूँ आपसे Live. 

Share this post with your friends

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *