संदीप भंसाली - डिजिटल आज़ादी

Digital Marketing For Astrologers – 7 Step Framework To Create Your Online Presence

Digital Marketing For Astrologers - 7 Step Framework To Create Your Online Presence

Attention Astrologers !

उम्मीद है कि आप अपने Astrology की Knowledge से लोगों की मदद कर रहे हैं और उन्हें सही Decisions लेने में मदद कर रहे हैं।  

Astrology या ज्योतिष विद्या एक पुरानी पद्धति है जिसमे ग्रहों और नक्षत्रों को देखकर किसी व्यक्ति के भविष्य का पता लगाया जाता है। 

इतनी Powerful होने के बावजूद आज कई Astrologers इसके ज़रिये अच्छा पैसा कमाने में असमर्थ हैं।   

इसका सबसे बड़ा कारण है कि वो आज भी अपने ऑफिस में बैठकर Clients के आने का इंतज़ार करते हैं और Word Of Mouth या Reference के भरोसे अपनी जिंदगी की गाड़ी चलाते रहते हैं। 

लेकिन, क्या आज के इंटरनेट युग में पैसे कमाने के लिए भगवान भरोसे बैठे रहना सही है?

नहीं, आपको इंटरनेट का भरपूर फायदा उठाना चाहिए और अपने ज्ञान को Online Promote या Market करना चाहिए। 

जब आप Social Media & Website के ज़रिये अपना ज्ञान बांटोगे तब ही लोग आपको जान पाएंगे और अपने करियर, रिलेशनशिप इत्यादि के लिए आपसे संपर्क कर पाएंगे। 

ये सब मुमकिन होगा Digital Marketing For Astrologers को Deeply समझने से। 

आज के इस Blog के ज़रिये हम इसी Topic पर प्रकाश ड़ाल रहे हैं और समझ रहे हैं कुछ बेहद ज़रूरी Digital Marketing Strategies For Astrologers To Gain More Clients.  

आइये बिना देरी किये शुरू करते हैं। 

यह भी पढ़ें – डिजिटल मार्केटिंग कैसे सीखें – 6 आसान स्टेप्स 

Table of Contents

Problems Faced By Astrologers In India

Digital Marketing For Astrologers Or Astrology समझने से पहले हमें ये भी जान लेना चाहिए कि आज एक Astrologer को किन-किन Challenges का सामना करना पड़ता है। 

जब भी हम Astrology की बात करते हैं तो हमें अपना भविष्य, करियर, रिलेशनशिप, जैसी चीज़ों के बारे में जानने की चाहत होती है जिसके लिए हम अक्सर अपने पुराने Astrologer या ज्योतिष से संपर्क करते हैं। 

पर एक ज्योतिष के तौर पर आपके पास लोग (Clients) तभी आते हैं जब आपकी एक पहचान होती है। 

ऐसे में नए Astrologer को शुरुआत में कई Challenges Face करने पड़ते हैं।

कुछ प्रमुख Challenges की बात करें तो उनमे शामिल हैं :

Problems Faced By Astrologers In India

Trust Issues

आज लोग केवल उन्हीं Astrologers के पास जाना पसंद करते हैं जिन्हें Astrology का अच्छा ज्ञान हो और Trusted हों। 

बल्कि, आजकल तो ऐसा देखा जाता है कि अगर आपके पिता या दादा Astrologer हैं या थे तो ही लोग आपके पास आते हैं, अन्यथा वो सीधा Google Baba का दरवाज़ा खटखटाते हैं। 

इसलिए एक नए Astrologer को शुरुआत में अपनी अच्छी छवि बनाने और लोगों का विश्वास जीतने के लिए बड़ी मशक्कत करनी पड़ती है।  

Online Astrology Firms

वर्ष 2015 में इंटरनेट सस्ता होने से भारत में Internet Users की संख्या तेज़ी से बढ़ने लगी और आज China के बाद India दूसरा सबसे अधिक Internet Users वाला देश बन गया है। 

इस रुझान को देखते हुए कई Online Astrologers Firms Establish हो गए और अपनी Online Services देने लगे। 

ऐसे में उन Astrologers के काम पर असर पड़ा जो Clients लाने के लिए Reference या Word Of Mouth पर निर्भर थे। 

ये कुछ Astrologers का सबसे बड़ा Challenge भी है क्योंकि आज Online Astrology Firms कम पैसे में बेहतर सर्विस दे रहे हैं। 

इससे पार पाने का एकमात्र इलाज है खुद की Digital Presence बनाना जो डिजिटल मार्केटिंग रणनीतियों (Digital Marketing Strategies For Astrologers) के ज़रिये मुमकिन है। 

Advertising Cost

Astrologers आज अपनी पहचान बनाने और Interested लोगों तक पहुंचने के लिए Traditional Marketing के तौर तरीकों का इस्तेमाल करते हैं। 

वो अपने Banners लगवाते हैं, Posters छपवाते हैं और कई बार तो दीवारों पर लिखवा देते हैं कि “किसी भी प्रकार की घरेलू समस्या, नौकरी में निराशा, शादी में अड़चन जैसी समस्याओं के समाधान के लिए ज्योतिष Xyz से संपर्क करें”

ये सभी Marketing के तरीकों को अपनाने में पैसा काफी लग जाता है और बेहतर Targeted Reach भी नहीं मिलती। 

कई बार तो महीनों लग जाते हैं नया Client आने में, ऐसे में निराशा होना तो ज़ाहिर सी बात है। 

Adopting Digital Technologies

आज कई Offline Astrologers को Digital Technologies की ज़्यादा जानकारी नहीं होती या वो इसे एक बड़ा Challenge समझकर आज़माना ही नहीं चाहते।

इस कारण वो अधिक Clients को Attract करने में पीछे रह जाते हैं और उतना पैसा नहीं कमा पाते।  

Technological Growth की वजह से ही इंडिया में Matchmaking Market आज INR 20 Billion से भी ज़्यादा की हो गई है। पर वो इसका फायदा नहीं उठा पाते। 

ये सभी Problems New Astrologers को अक्सर Face करनी पड़ती हैं जिनका Solution हम अपने अगले Sections में बताने वाले हैं।

Solution बताने से पहले कुछ Astrology Myths पर भी नज़र ड़ाल लेते हैं जो अक्सर लोगों के मन में होते हैं।   

Myths Related To Astrology - लोगों के मन में क्या Myths होते हैं

Astrology एक काफी पुरानी पद्धति है जिसका उपयोग भारत सहित अन्य देशों में भी सालों से हो रहा है। 

परन्तु, जैसे-जैसे Evolution हो रहा है, लोग Educated हो रहे हैं, Astrology को लेकर कई सारे Myths देखने को मिल रहे हैं। 

उनमे से कुछ प्रमुख Astrology Myths का हम यहां ज़िक्र कर रहे हैं। 

Astrologers को अशिक्षित और अंधविश्वासी समझना

एक बड़ी आबादी Astrologers को अशिक्षित और अंधविश्वासी समझती है। उन्हें लगता है कि Astrologers कोई Scientists नहीं हैं जिनकी बातों पर विश्वास किया जाए। 

पर Astrologer बनना अपने आप में ही एक बड़ी कामयाबी होती है जिसके लिए Degree भी लेनी होती है और अच्छा ख़ासा अनुभव भी हासिल करना होता है। 

Astrology पर Completely Rely होना

कई लोग जो Astrology को मानते हैं इस पर Completely Rely हो जाते हैं। उन्हें लगता है कि जो भी उनकी राशि में लिखा है या जो उनका Planetary Chart कह रहा है ठीक उसी तरह उन्हें अपनी ज़िंदगी जीनी पड़ेगी। 

इस वजह से वो चाहकर भी कुछ ऐसे Decisions नहीं ले पाते जिससे उन्हें कुछ अच्छा Experience हो सकता था।

इसलिए पूरी तरह से Astrology पर Rely होना सही नहीं है। बल्कि, इसी कारण से आजकल Astrologers ने लोगों को उनके Chart के अनुसार सभी Positive & Negative बातें बताने बंद कर दी हैं।  

Astrology Is All About Reading Horoscope

कई लोगों का मानना होता है कि Astrology Is All About Reading Horoscope – जबकि ऐसा बिलकुल नहीं है। 

Astrology में सभी Conclusion Planetary Motion को देखकर दी जाती है। इसलिए इसमें सिर्फ Horoscope Reading के अलावा Birth Chart, Relationship Astrology, Karma Astrology जैसी 80 से भी ज़्यादा Astrology के Branches शामिल होती हैं। 

Astrological Remedies से सभी परेशानियां दूर हो सकती हैं

इसे भी लोग सच समझते हैं। उन्हें लगता है कि अगर Astrologer ने जो भी उपाय बताएं हैं उन्हें पूरा करने से उनके जीवन से सारी बाधाएं दूर हो जाती हैं। 

इसके पीछे की सच्चाई ये है कि ये Remedies आपको Psychological Strength देती है जिससे आपका Confidence बढ़ता है और आप ज़्यादा Effort से काम करते हैं। इसलिए आप उन Remedies से केवल तभी फायदा ले सकते हैं जब Consistently & Effortlessly कार्य करते रहें। 

इन सभी Astrological Myths की वजह से कुछ लोग Astrologers पर विश्वास नहीं करते और कई लोग कुछ ज़्यादा ही विश्वास कर लेते हैं और अपने Chart में सब कुछ सही होने पर मेहनत करना कम कर देते हैं। 

खैर, ये तो रही बात लोगों की, परन्तु एक Astrologer के तौर पर आपको मेहनत करनी पड़ेगी और अच्छे पैसे कमाने के लिए ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुंचना होगा। 

इसके लिए आपको डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing For Astrologers) को अपनाना पड़ेगा जिससे आपको कई तरह के फायदे मिल सकते हैं।

Also Read – Digital Marketing For Professionals – Grow Your Revenue In 9 Steps

Benefits Of Digital Marketing For Astrologers & Astrology Business

धीरे-धीरे वो समय निकलता जा रहा है जब एक Expert Astrologer को ढूंढने के लिए लोग अपने आस-पास के लोगों से संपर्क करते थे। 

आज Mobile उठाया, Google पर टाइप किया “Best Astrologer Near Me” और आपके सामने कई Results हाज़िर हो जाते हैं। 

इससे लोगों को कहीं जाना भी नहीं पड़ता और घर बैठे ही Online Consultation के ज़रिये समाधान निकल जाता है।

इसी तरह Digital Marketing For Astrologers के अन्य कई Benefits हैं, आइये उनमे से कुछ पर चर्चा करते हैं। 

Benefits Of Digital Marketing For Astrologers & Astrology Business

Help Build Personal Brand

Digital Marketing For Astrology का सबसे पहला फायदा है Personal Brand Building. 

Personal Brand आपको अन्य Astrologers से अलग दिखाती है और लोगों की नज़रों में एक Expert की छवि बनाती है। 

Personal Brand बनाने का सबसे पहला Rule है लोगों की नज़रों में आना या यूँ कहें कि अपनी Target Audience की नज़रों में आना। 

इसके लिए Content Creation, Social Media, Website, Search Engine Optimization, Paid Advertisement जैसी Digital Marketing Strategies की मदद ली जाती है। 

Personal Brand बनने से आपके लिए Competition काफी कम हो जाता है और लोग खुद ब खुद आपसे Consult करना शुरू कर देते हैं। 

Give Faster Result

Traditional Marketing का Use एक Time Consuming & Slow Method माना जाता है जहां ज़्यादा पैसे लगाने के बावजूद अच्छा ROI नहीं मिलता। 

लेकिन, डिजिटल मार्केटिंग आपको Faster Result लाने में मदद करती है। 

यहां आप Less Effort & Money Spend करके अपने Target Clients तक पहुँच सकते हैं। 

इसके लिए अक्सर PPC Advertising जैसी Technique को Use किया जाता है जिसके तहत आप Google, YouTube, Facebook, Instagram, LinkedIn जैसे Platforms पर Ad Campaigns Run कर सकते हैं। 

Give Faster Results

Help Reach Millions At Affordable Cost

Banners, Posters, Newspaper में Ads दिखाना एक Costly Marketing Strategy माना जाता है। 

यही नहीं, इनके ज़रिये आप अपने Ideal Clients को Target करने की बजाय सभी लोगों को टारगेट करते हैं। 

इससे सही Client को Acquire करने में बहुत समय लग जाता है और आपकी Reach भी Limited होती है।  

ऐसे में Digital Marketing की PPC Advertising Strategy अपनाकर आप Reach Campaigns चला सकते हैं और कुछ ही दिनों में हज़ारों-लाखों लोगों तक पहुँच सकते हैं।  

इसी तरह आपकी Organic Marketing Strategy में Content Creation, Search Engine Optimization, Social Media Optimization & Content Marketing जैसी Techniques दुनिया के किसी भी कोने में बैठे Interested Prospect तक पहुँचने में मदद करती है। 

Help Create Multiple Sources Of Income

Digital Marketing For Astrologer & Astrology का एक सबसे बड़ा फायदा है कि आपके पास पैसे कमाने के कई Sources Open हो जाते हैं। 

Digital Marketing Implement करने के पश्चात् आप,

  • लोगों को Online Consult कर सकते हैं
  • उनकी कुंडली या Charts बना सकते हैं 
  • किसी दूसरे देश में बैठे शख्स को Remedies बताकर अच्छी Fees Charge कर सकते हैं
  • अपने जानने वाले अन्य Astrologers के लिए Website बना सकते हैं
  • अन्य Famous & Popular Astrologers को Posts बनाकर दे सकते हैं या उनके लिए Content लिख सकते हैं

इस तरह डिजिटल मार्केटिंग सीखकर आपके एक-दो नहीं बल्कि कई Income Sources बन जाते हैं। 

यह भी पढ़ें – Digital Marketing सीखने के बाद पैसा कमाने के 8 बेहतरीन तरीके   

आइये अब अपने Main Topic पर आते हैं और बात करते हैं Digital Marketing Strategies For Astrologers की। 

How To Grow Astrology Business Using Digital Marketing For Astrologers - 7 Steps To Follow

हर नए Astrologer की ख्वाहिश होती है कि लोग उसे जाने, उसका नाम हो और उसे एक Identity मिले। 

वो अन्य Astrologer की तरह केवल References के भरोसे नहीं रहना चाहता, वो चाहता है कि उसके पास लगातार New Clients आते रहें और उससे Consult करते रहें।

लेकिन ये सब मुमकिन कैसे होगा?

ये मुमकिन होगा आज के समय का सबसे शक्तिशाली अस्त्र यानि Internet इस्तेमाल करने से।  

Internet का इस्तेमाल आज करोड़ों लोग कर रहे हैं जिस वजह से Social Media Users की संख्या में भी बढ़ावा देखने को मिला है। 

वर्ष 2015 में भारत में जहां सिर्फ 142 Million Users थे, Internet के विस्तार के कारण आज वर्ष 2022 में इनकी संख्या बढ़कर 750 Million से भी ज़्यादा हो गई है।

ऐसे में इन Users तक पहुँचने के लिए आपको कुछ Digital Marketing Strategies For Astrologers बनानी पड़ेंगी। 

तो आइये देखते हैं 7 Steps में आप कैसे अपने लिए बेहतरीन डिजिटल मार्केटिंग रणनीति बना सकते हैं।  

Step - 1 Design Your Professional Astrology Website

Astrology Business के लिए वेबसाइट बहुत ज़रूरी होती है जिसे आप अपना Digital Office भी कह सकते हैं।

Website पर आप Home Page, About Us, Contact Us, Blogs, Service Page बनाकर अपनी Online Journey की शुरुआत कर सकते हैं। 

Website Design करने से पहले इन Design Factors को ज़रूर पढ़ लें। 

अपनी वेबसाइट पर अपने Existing Clients के Testimonials, Reviews, Awards, अपनी Degrees, Experience And अपनी Expertise की जानकारी दे सकते हैं। 

Visitor जब इन Information को पढ़ता है और आप उसे Legit & Experienced लगते हैं तो वो Directly आपके Contact Us Page पर जाकर या WhatsApp के ज़रिये आपसे संपर्क कर लेता है। 

लेकिन, कई बार कुछ ऐसे Visitors भी आते हैं जो पहली बार में आपसे संपर्क नहीं करते, उन्हें आपके बारे में और अधिक जानना होता है या आपकी कोई Free Service चाहिए होती है। 

इसके लिए आप वेबसाइट पर Lead Magnet Use कर सकते हैं। 

Lead Magnet में Free Kundali Generation, Kundali Matching, Lucky Number/Color, Today’s Horoscope जैसी Free सुविधाएं दे सकते हैं। 

इन्हें Access करने के लिए आप उनसे उनकी Contact Details मांग सकते हैं और फिर WhatsApp या Email के ज़रिये उनसे संपर्क कर सकते हैं। 

Website की Importance को जानने के लिए यह ब्लॉग ज़रूर पढ़िए। 

Step - 2 Perform Search Engine Optimization

Step - 2 Perform Search Engine Optimization

Website बनाने के बाद अगला स्टेप है उसे Search Engine (Google, Bing, Etc.) के लिए Optimize करना। 

क्योंकि तभी तो आपकी वेबसाइट Google जैसे सर्च इंजन के पहले पेज पर रैंक कर पायेगी। 

पहले पेज पर रैंक करेगी तो आपकी वेबसाइट पर Targeted Traffic भी आएगा जिनमे वो लोग शामिल होंगे जिन्हें Actual में कुछ Astrological Guidance लेनी होगी। 

इस पूरे प्रोसेस को Search Engine Optimization या SEO कहा जाता है जिसके अंतर्गत अलग-अलग Types Of SEO के मदद से वेबसाइट को रैंक कराया जाता है। 

SEO को Detail में समझाने के लिए हमने SEO Series Publish की है जिसमे SEO के बारे में A To Z सब कुछ बताया गया है। यहां उस Series के Links दिए गए हैं जिन्हें आपको ज़रूर पढ़ना चाहिए। 

Step - 3 Focus On Local SEO

Step - 3 Focus On Local SEO

क्या आप अपने Local Area के लोगों को अभी Astrology Service देना चाहते हैं?

अगर हाँ तो आपको Local SEO पर भी फोकस करना पड़ेगा। 

Local SEO में Google My Business (GMB) And अन्य कई Local Directories पर अपने Astrology Business की Details डालनी पड़ती है। 

यहां आपको Google को बताना पड़ता है कि आपके Business का क्या नाम है, उसका Address क्या है, कब बंद करते हैं, कब खोलते हैं, क्या सर्विसेज़ देते हैं, Keywords, Tags इत्यादि। 

इसके साथ ही अपने Existing Clients से अपनी GMB Profile पर Reviews & Ratings लीजिये। 

ऐसे में जब भी कोई व्यक्ति आपके Area में सर्च करता है “Best Astrologer Near Me” तो Proper Local SEO होने से Google आपके Astrology Business को सबसे ऊपर दिखाता है। 

इसी प्रकार Local Directories (जैसे कि Just Dial, Locallive, Poweredindia, Yellow Pages, Etc.) भी आपकी Listing को सबसे ऊपर दिखाती है और इस तरह आपके पास Enquiries Generate होती रहती हैं।

Local SEO को विस्तार से समझिये इस ब्लॉग में –  Local SEO Strategies To Grow Your Offline Business Digitally

Step - 4 Create Well Optimized Profile On Relevant Social Media Platforms

Step - 4 Create Well Optimized Profile On Relevant Social Media Platforms

Social Media पर आज लगभग हर Internet User अपना Time Pass करता है। 

ऐसे में इसकी बहुत अधिक सम्भावना है कि आपको यहां ऐसे लोग मिल जाएं जिन्हें आपके Consultation की ज़रूरत है। 

इसलिए आज के समय आप Social Media को Ignore नहीं कर सकते। 

आपको इन Platforms (Like Facebook, YouTube, Instagram, LinkedIn, Twitter, Quora) पर अपनी Profile Create करके Content Creation शुरू करना है। 

लेकिन, ध्यान रहे कि सभी Social Media Platforms पर आप Profile न बनाएं। केवल उन्हीं Platforms पर बनाएं जिन पर आपके Ideal Clients ज़्यादा समय बिताते हैं। 

ऐसे Platforms का पता लगाने के लिए आप अपने Competitors को देख सकते हैं कि वो किन Platforms पर ज़्यादा Active हैं। 

इस प्रकार Relevant Platforms पर Optimized Profile बनाकर Educational Content Create करने से आप अपने Ideal Clients के पास पहुंचने लगते हैं और आपके Posts, Videos & Shorts उन्हें दिखने लगते हैं। 

*Pro Tip – आज Videos का बोलबाला है, इसलिए कोशिश करें कि Long & Short Form Video बनाएं और उन्हें YouTube, Instagram & Facebook जैसे Channels पर Publish करें। 

इसके अलावा आप Quora पर Answer देकर भी लोगों को अपनी Website पर Divert कर सकते हैं। 

Step - 5 Start Content Creation & Content Marketing

Step - 5 Start Content Creation & Content Marketing

Relevant Social Media Channels पर Optimized Profile बनाने के बाद बारी है उन पर High Quality & Problem Solving Content Create करने की। 

यहां केवल Social Media ही नहीं बल्कि अपने Website पर Blogs के तौर पर भी Content Create करना होता है। 

आप एक Video को अलग-अलग Shorts का रूप दे सकते हैं और उसे Blog की Form में भी Convert कर सकते हैं। 

Effective Content Creation के लिए इन 9 Practices को ज़रूर जान लें। 

इस प्रकार एक तरह के Content को Repurpose करके अलग-अलग Platforms पर Distribute करना Content Marketing कहलाता है। 

Effective Content Marketing Strategy बनाने के 9 Secrets.  

यहां हमेशा ध्यान रखें कि आपका Content Engaging, Attractive & Solution Oriented होना चाहिए जिसमे आपको हमेशा एक Call To Action देना चाहिए। 

Content में इस तरह की जानकारी होनी चाहिए कि देखने वाला उसे Like & Share करने के लिए मज़बूर हो जाए और आपके दिए गए Call To Action के आधार पर आपकी वेबसाइट पर चला जाए। 

Content Marketing आपकी Job भी Replace कर सकती है – जानिए कैसे?

Step - 6 Utilize The Power Of Pay Per Click Advertising

Step - 6 Utilize The Power Of Pay Per Click Advertising

6th Digital Marketing Strategy For Astrologers & Astrology Business में नाम आता है Pay Per Click यानि PPC Advertising का। 

आपने कई बार YouTube Videos के बीच में, Facebook पर, Instagram पर और Google पर सर्च करते वक्त Ads ज़रूर देखे होंगे। 

आप भी अपनी Astrology Services को Market करने के लिए इन Ads को Use कर सकते हैं। 

Ads Set Up करते समय आपको Ad Network को अपने Ideal Clients की Details बतानी होती है जैसे – Gender, Demographic, Profession, Interest, इत्यादि। 

इन सभी Details के आधार पर Ad Platform केवल इन्हीं लोगों को आपके Ad दिखाता है जिससे आपके पास Quality Traffic आने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है। 

यहां आप Reach Campaigns, Awareness Campaigns & Lead Generation Campaigns चला सकते हैं जिससे आपको Faster Result मिलते हैं। 

Step - 7 Use Retargeting Campaigns

यह एक One Of The Greatest Digital Marketing Tips For Astrologers है जहां आप अपने Visitors को Retarget कर सकते हैं। 

जो भी व्यक्ति आपकी वेबसाइट या सोशल मीडिया पर Interact होते हैं आप उन्हें Ads, Emails, WhatsApp या SMS के ज़रिये दोबारा से Retarget कर सकते हैं।  

ये वो लोग होते हैं जिन्होंने आपकी वेबसाइट पर केवल कुछ Seconds के लिए Visit किया था या आपका कोई Short देखा था। 

Retargeting के समय आप उनके Doubts Solve करने की कोशिश करते हैं जिससे उनमे से कई लोग आपकी Service लेने के लिए तैयार हो जाते हैं।    

इस प्रकार Digital Marketing की इन सभी Strategies को Step By Step इस्तेमाल करने से आप लोगों की नज़रों में आने लगते हैं और आपकी एक अलग Image बनने लगती है। 

ये Image आपको Personal Brand बनाने में मदद करती है और आप Competiton से मीलों आगे निकल जाते हैं। 

Conclusion - Digital Marketing Strategies For Astrologers In India

Astrology Business में अच्छा पैसा कमाने में सबसे बड़ा Challenge होता है अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचना और उन्हें समझाना कि आप एक Experienced Astrologer हैं और वो आप पर Trust कर सकते हैं। 

आजकल अधिकतर Astrologers अपने Clients तक पहुँचने के लिए Word Of Mouth पर निर्भर रहते हैं जिस वजह से उनकी Reach की एक सीमा बन जाती है। 

लेकिन, इस सीमा को आप डिजिटल मार्केटिंग की मदद से ख़त्म कर सकते हैं। 

Digital Marketing की मदद से आप अपने घर से ही अन्य शहरों और देशों में बैठे लोगों तक पहुँच सकते हैं, उन्हें Consult कर सकते हैं, उनका Chart Prepare कर सकते हैं और अच्छे भविष्य के लिए Remedies बता सकते हैं। 

ये सब कैसे होता है और इसके लिए किस तरह की रणनीतियों की ज़रूरत होती है – इसे हमने आज के इस ब्लॉग – Digital Marketing Strategies For Astrologers & Astrology Business में देखा। 

यदि आप इन सभी Strategies को Practically, Live Classes के माध्यम से Step By Step सीखना चाहते हैं और अपनी एक Identity बनाना चाहते हैं तो आज ही जुड़िये Digital Azadi Community के साथ। 

इस Community में कई Lawyers, Homemakers, Doctors, Salaried Employees और आप जैसे Astrologers जुड़े हैं जो हमारी बताई हुई चीज़ों को Implement कर रहे हैं। 

Community में जुड़ने के लिए आपको हम है अपनी Masterclass के लिए आमंत्रित करते हैं जहां हम इन सभी Strategies को बारीकी से समझेंगे और आपके लिए एक Complete Roadmap Discuss करेंगे। 

Seats Limited हैं, इसलिए जल्द से जल्द रजिस्टर कीजिये इस Live Masterclass के लिए।  

Share this post with your friends

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *