संदीप भंसाली - डिजिटल आज़ादी

Your Ultimate Guide On How To Be A Part Of Creator Economy In 2022

Your Ultimate Guide On How To Be A Part Of Creator Economy In 2022

Be Where The World Is Going 

“आपको वहाँ होना चाहिए जहां दुनिया जा रही है”

ऐसा American Business Advisor और Writer Beth Comstock ने कहा है। 

पर क्या आप उस Economy का हिस्सा हैं जिसका Total Market Size $100 Billion से भी ज़्यादा है? In Short जहां इस वक़्त दुनिया जा रही है। 

क्या आप उस Economy के बारे में जानते हैं जो हर दिन Grow कर रही है, और Directly या Indirectly आप भी उसका हिस्सा है ? 

इस पहेली को यहीं ख़तम करते हैं।

हम जिस Economy की बात कर रहे हैं वो है Creator Economy.

कई बड़े Social Media Platforms जैसे Facebook, YouTube, Instagram, Snapchat इन सब ने Billions Of Dollars का Revenue Generate किया है और यह सब हुआ है Creator Economy के कारण। 

हर दिन ज़्यादा से ज़्यादा लोग Directly और Indirectly Creator Economy का हिस्सा बनते जा रहे हैं। 

अगर आप दुनिया की One Of The Fastest Growing Community और Economy के बारे में जानना चाहते हैं, तो आप सही जगह पर हैं। 

यह Article आपकी मदद करेगा Creator Economy और उसकी Working समझने में।

इसलिए जो लोग इस Term से Familiar नहीं हैं या फिर What Is Creator Economy? What Are Creator Economy Trends, Is It Profitable To Be A Creator? जैसे Creator Economy से जुड़े सवालो का जवाब जानना चाहते हैं वो इस Article को अंत तक ज़रूर पढ़ें।

इस Article में हम कई Topics पर बात करेंगे या यूँ कहें कि कई सारे सवालों के जवाब ढूंढेंगे जैसे –

  • Creator Economy क्या है? 
  • बीते 5 सालों में यह किस तरह से Evolve हुई है?
  • आज Creator Economy इतनी Popular क्यों है?
  •  Creator Economy Trends Specifically Creator Economy Trends 2022 क्या – क्या है? 
  • Creator Economy India किस तरह Perform कर रही है?
  • क्या Content Creator एक अच्छा Full-Time Career Option हो सकता है?

इन सभी सवालों के जवाब ढूढ़ने से पहले यह समझना ज़रूरी है कि Creator Economy क्या है और यह किस तरह काम करती है।

Table of Contents

Creator Economy क्या है?

Creator Economy क्या है

Creator Economy का Evolution Internet की वजह से हुआ और जैसे जैसे Internet Popular होता गया Creator Economy भी Grow करती गई।  

अभी कुछ समय पहले की ही बात है, Content और Entertainment Industry को T.V., Radio, Newspapers Dominate किया करते थे।

यही सब Content Consumption के Sources भी थे। यह Trend काफी वक़्त तक चला पर जैसे जैसे Internet Evolve होता गया यह सारे Content Sources पुराने होते चले गए।

आप लोगों को याद होगा किस तरह हर सुबह लोग बेसबरी से अख़बार का इंतज़ार किया करते थे ताकि यह जान सके की देश विदेश में क्या चल रहा हैं। 

कई लोग Radio लेकर पुरे शहर में घूमते थे ताकि Signal मिले और वो समचार, गाने, कविताएं इत्यादि सुन सकें।

इसके बाद T.V. Channels प्रचलन में आ गए और सुबह ताज़े अख़बार में आने वाली ख़बर बासी होकर मिलने लगी। 

Radio की जगह T.V. पर खबरें, गाने, कविताएं प्रसारित होने लगे। T.V. ने काफी वक़्त तक Content Industry को Dominate किया। 

फिर Internet का ज़माना आया और हम तक हर मिनट खबरे पहुंचने लगी। हमारे Entertainment का पता Internet बन गया।  

Internet ने दुनिया को एक नई Community Provide की जहां Content Readers के साथ- साथ Content Creators भी थे। 

यहीं से Content Production, Consumption और Distribution की दुनिया में एक नया Revolution आया और इसी से Creator Economy की शुरुआत हुई।

Content Production, Consumption और Distribution का जो Process है, उसे Content Marketing कहते हैं। 

Content Marketing के बारे में जानने के लिए ये Blog पढ़ें। 

Creator Economy Definition

Creator Economy Definition

Creator Economy को अगर Define किया जाए तो यह एक Economic System है जिसे Independent Content Creators ने बनाया है जो अपनी Audiences और Brands से Internet के ज़रिए Connected हैं। 

Creators से यहां मतलब उन लोगों से है जो अपना बनाया Content Create, Distribute और Share करते हैं अपनी Audience के साथ।

यह Content Text, Video, Music, Games, Podcast किसी भी Form में हो सकता  है। 

Content को विस्तार से समझने के लिए ये Blog पढ़ें। 

Creator Economy कैसे काम करती है ?

Creator Economy कैसे काम करती है

Creator Economy में कई सारे Elements होते हैं जैसे 

  • Creators
  • Consumers 
  • Businesses 
  • Platforms 
  • Tools

जब यह Elements आपस में Interact करते हैं तब Creator Economy Work करती है। 

Creators Tools की Help से जब Content Create करते हैं तब वो Tools के साथ Interact करते हैं।

फिर उसी Content को या तो Sell कर देते हैं या फिर किसी Platform पर Upload या Publish करते हैं जिससे वो Final Consumer तक Reach कर सकें और Business Generate कर सकें या फिर Revenue Generate कर सकें।

इस तरह से यह सारे Elements Connected है। 

हालांकि यह एक Single Cycle है, Creator Economy में ऐसी कई सारी Cycles होती है जहाँ Elements एक दूसरे को Contradict करते हैं या फिर Overlap करते हैं।   

जैसे अगर Creators Tools का Use करके Businesses के लिए Content Create करते हैं और फिर उसे Businesses को Sell कर देते हैं ताकि Businesses उसे अपने Owned Platforms पर Publish कर सकें। 

इस Cycle में Creator के लिए Content Consumers Businesses हैं जो की अपने Platform पर इस Content को Publish करेंगे अपने End Consumers के लिए। यहाँ एक Business के लिए Content Consumer उनकी Target Audience है। 

हमने अभी एक ही Cycle में दो Consumers का Interaction देखा, जिसका मतलब एक Cycle में Overlapping Elements हो सकते हैं। 

इन Elements के एक दूसरे के साथ Interact करने से ही Creator Economy Function करती है।

पिछले 5 सालों में Creator Economy कैसे Evolve हुई है ?

पिछले 5 सालों में Creator Economy कैसे Evolved हुई है

Creator Economy पिछले कुछ सालों में काफी Evolve हुई है। 

यह Predict किया जा रहा है कि 2022 के End तक Creator Economy का Valuation लगभग $104. 2 Billion होगा।

Creators Advertisement, Brand Collaboration, Product Promotion, Affiliation Etc. के Through अपने Content को Monetize करते हैं और उसी के Through Revenue Generate करते हैं। 

Elevation Capital Research के हिसाब से Professional Creators की Average Earnings $3500 हैं।    

अगर बात सिर्फ YouTube की करें तो YouTube ने पिछले तीन सालों में YouTubers को $30 Million Pay किए हैं। 

T-Series 100 Million Users या Subscribers पूरा करने वाला पहला YouTube Channel बना। 

इसके अलावा लगभग $800 Million का Venture Capital भी अब तक अलग अलग Creator Ventures में Invest किया जा चुका है।  

Creator Economy India की अगर बात करें तो बीते कुछ सालों में यह 1300 Crore तक बढ़ी है। 

कई सारे Small, Medium और Multinational Brands भी Social Media Influencers के Through अपना Product Promote कर रहे हैं।  

2016 में जहां Creator Economy India का Valuation $1.7 Billion था वही आज बढ़कर 2020 में $9.7 Billion हो गया है।  

Creator Economy Trends 2022

Creator Economy की Growth के साथ साथ इसके Format और Trends में काफी Changes आए हैं।

यह Changes कई सारे Different Subject Matters पर आए हैं जैसे –  Structure Of Content, Ways Of Drafting A Content, Content Sharing Platforms, Influencers Guidelines Etc. 

इन्हीं Subjects से जुड़े कुछ Popular Trends के बारे में हम इस Section में Discuss करेंगे।   

Micro Influencing

Micro-Influencers वो होते हैं जिनके Followers 1000 से 10000 के बीच होते हैं और वे एक Particular Niche पर ज़्यादा Focus करते हैं। 

ऐसा माना जाता कि Micro-Influencers एक Typical Influencer या बड़े Influencers की तुलना में अपनी Target Audience के साथ एक Strong Bond Share करते हैं।

एक वक्त हुआ करता था जब Influencing करने के लिए लाखों में Followers की ज़रूरत पढ़ती थी,पर अब चीज़े काफी बदल गई हैं। 

अब Number Of Followers की जगह Engagement और Conversion Rates पर ज़्यादा Focus किया जा रहा है और यही Micro-Influencing की बढ़ती Popularity का एक अहम कारण भी है।     

Brands इस Market Shift को काफी अच्छे से समझते हैं और इसलिए इस वक़्त Micro-Influencing Trend में है।

काफी Brands ऐसा मानते हैं कि Micro-Influencers Genuinely अपनी Audience से Ground Level पर Connect करते हैं और इसलिए उनके Promote करने पर Brand Engagement और Conversions भी ज़्यादा होते हैं और इसलिए Micro Influencing Creator Economy Trends 2022 में से एक है।  

Rise In Creator Owned Platforms

Rise In Creators Owned Platforms

Creator Economy के Growth के साथ साथ Third Party Content Sharing Platforms भी काफी Evolve हुए हैं। 

Majority Content Creators इन Platforms पर अपना Content Upload करते हैं जिसके कारण यह Millions Of Dollar का Revenue Generate करते हैं।      

पर अब Trend कुछ बदलता हुआ दिख रहा है।

काफी सारे Content Creators Third-Party Platform पर Content Share करने की बजाए Self Owned Platforms पर Content Publish या Upload  करना Prefer कर रहे हैं।

इस Shifting Trend के कई सारे कारण हैं

  1. Third Party Platforms के द्वारा Charge की जाने वाली Hefty Fees.
  2. Algorithms लगातार बदलते रहते हैं – Content Sharing Platforms का Algorithm Frequently Change होता रहता है जिस वजह से Monetization Standards भी बदलते रहते हैं जो काफी हद तक Content Creators के लिए Problematic है। 
  3. Lack Of Platform Ownership – YouTube, Instagram और Facebook आपको सिर्फ आपके Content की Ownership देते हैं पर Platform Ownership उनके पास ही होता है।

इसे साधारण भाषा में कहें तो Content Creators इन Platforms पर किराएदार की तरह होते हैं जो घर में रह तो सकते हैं पर उस घर में अपने हिसाब से Modification नहीं करवा सकते। 

जिस तरह Tenants Rent भरते है उसी तरह Creators अपनी Earnings से इन Platforms को Fees Pay करते हैं। 

Thanks To WordPress, Blogger And Teachable; अपनी खुद की Websites बनाना और Classes Host करना पहले से काफी आसान हो गया है।

जब आपके पास आपकी खुद की Website होगी तो आप उसे अपने हिसाब से Run कर सकते हैं।

उसकी Themes, Designs Etc. Decide कर सकते है, उसपे Content Publish कर सकते हैं, Podcast Upload कर सकते हैं, Videos Upload कर सकते हैं और साथ ही Paid Courses या Classes भी Schedule कर सकते हैं।     

NFTs

NFT

NFT (Non-Fungible Token) यह Term आपने बीते कुछ वक़्त में कई बार सुना होगा। 

इसे Creator Economy में Revolution की तरह देखा जा रहा है। 

Non-Fungible Tokens को समझने के लिए पहले उन दोनों शब्दों का मतलब समझना ज़रूरी है जिनसे मिलकर यह बना है। 

Fungible को अगर आसान भाषा में समझा जाए तो इसका मतलब होता है Replaceable और जब हम इसके साथ Non Word जोड़ देते हैं तो मतलब किसी   ऐसी चीज़ के बारे में बात कर रहे हैं जिसे Replace नहीं किया जा सकता।

जहाँ तक Token की बात है तो Token को Blockchain Payment की Unit कहा जा सकता है, जैसे रुपए होते हैं ठीक वैसे ही। 

जब Blockchain के ज़रिए Payment की जाती है तो वो Tokens के Form में की जाती है।  

अब NFT का Concept समझते हैं।

मान लीजिए आपके पास एक Cricket Ball है और वो कही खो गई है। 

अब आपको Cricket खेलने के लिए Ball चाहिए तो आप Same वैसी Ball Market से ला सकते हैं। पर अगर उसी Ball पर दिग्गज Cricketer Andrew Symonds का Autograph हो तो? वह Ball आपको दोबारा नहीं मिल सकती क्योंकि वो Autograph उसे Unique और Irreplaceable बनाता है।    

NFT का भी कुछ ऐसा ही है जहाँ पर लोग ऐसी ही Unique Physical और Digital चीज़े खरीदते हैं।  

कई Content Creators के लिए NFT Dream Project की तरह है। 

जितना ज़्यादा Unique उनका Creation होगा उतना ही Higher Amount उन्हें Receive होगा। 

NFTs Digital Assets की तरह होते हैं जिन्हें Cryptocurrency में Buy और Sell किया जा सकता है।  

NFTs में Real World Objects जैसे Art, Music, Paintings Etc. में Deal किया जाता है।  

2021 में NFTs का Market Valuation $41billion था और अब भी NFT Market Grow कर रहा है। 

NFT की बढ़ती Popularity के कारण ही Creator Economy Trends 2022 में इसे शामिल किया गया है।  

Audio Focused Content

Audio Focused Content

Podcast और Audio Rich Contents को Creator Economy में एक Trend की तरह देखा जाता है। 

Creators की Target Audience में एक Significant Proportion ऐसी Audience का होता है जिन्हें Reading कुछ खास पसंद नहीं और Video देखने का समय उनके पास नहीं होता। ऐसे में उन तक Content कैसे पहुंचाया जाए यह एक बड़ा सवाल था। 

Multi Tasking की दुनिया में ऐसे लाखों Content Consumers हैं जो काम करते- करते Content Consume करना पसंद करते है। 

दोनों Type Of Content Consumers के लिए Audio Focused Content बहुत ज़रूरी है।  

Audio Content को कभी भी किसी भी समय Even Comparatively Less Data Availability के साथ भी Consume किया जा सकता है। 

इसके अलावा Audio Content को Background में Easily Run किया जा सकता है बिना अपने Mobile, Tablet या Computers के काम को Disturb किए।

The Mint में Published एक Article के हिसाब से भारत में 2021 के अंत तक Online Audio Content के 95 Million Monthly Users होने का अनुमान है। 

यह Figure पिछले साल के Comparison में 34% तक अधिक होगा। 

अब तक आप समझ ही गए होंगे की Audio Focused Content को Creator Economy Trends 2022 में जगह क्यों दी गयी है। 

इन Trends के बारे में बात करने के बाद अब बात करते हैं कि कैसे Creator Economy ने Present को Impact किया है।  

How Has The Creator Economy Affected The Present

How Has The Creator Economy Affected The Present

2021 में Covid के कारण दुनिया रुक सी गई थी, पर अब जब सब कुछ धीरे धीरे Normalize हो रहा है तो Creator Economy भी वापस से Grow कर रही हैं। 

Creator Economy के Revival में Influencer Marketing ने एक Major Role Play किया है। 

काफी सारे Influencers ने Product Promotion के Through Brands को Customers से Connect किया है।

आने वाले साल में कई सारे और Creators भी इस Ecosystem को Join करेंगे और Creator Economy की Overall Growth में Help करेंगे।

2021 के बाद से NFT में भी Growth देखने को मिली है।

इसके अलावा 2022 में Tier 2 और Tier 3 Cities में Large Number Of Signups भी देखने को मिल सकते हैं Short Video Content के लिए। 

2022 में Small Brands, Creator Economy के Upliftment में एक Important Role Play करेंगे। 

पिछले कुछ सालो में यह देखा गया है कि Small Business Owners Influencers और Content Creators को Approach करते हैं ताकि उनका Product ज़्यादा से ज़्यादा लोगो तक पहुंचे।

अब सबसे अहम सवाल पर भी नज़र डाल लेते हैं। देखते हैं कि Creators को लेकर Statistics क्या कहते हैं।

क्या Creator बनना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है ?

क्या Creator बनना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है

Creator Economy इस वक़्त Boom कर रही है। 

ऐसे में कई सारे लोग यह सोच रहे होंगे की क्या Content Creator को As A Career Option Consider किया जा सकता है? 

इसका जवाब कुछ Statistics की मदद से ढूढ़ने की कोशिश करते हैं।

Content Creators की अगर बात की जाए तो India में Content Creators की Salary 1.2 Lakhs से लेकर 10 Lakhs तक Range करती है। Content Creators की National Average Salary 3.6 Lakhs है।

Indian Creator Economy को अगर इस वक़्त Evaluate करें तो यह कहना गलत नहीं होगा कि “Sky Is The Limit.”  

India के कुछ Highest Paid YouTubers $20 Million तक सालाना कमाते हैं। 

YouTube Partner Program के अलावा भी YouTubers कई अलग- अलग Sources से Income Generate करते हैं, इसलिए Exact Amount Calculate करना थोड़ा मुश्किल है। 

India में एक Normal YouTuber जिसके Video पर 10000 Views आते हैं वह 200 से 500 ₹ Per Video Earn करता है। 

जिसके Video पर 100000 Views हैं 2000 से 5000 तक Earn करता है और इस तरह Views के हिसाब से Earnings Calculate की जाती हैं। 

यह अनुमानित आकड़े या Predicted Numbers हैं। 

YouTubers की Actual Earnings कई सारे Factors पर Based होती है जैसे – Length Of The Video, Ads Clicks, Niche, Etc. 

इसके अलावा YouTubers Product Promotions, Merchandise Selling, Paid Reviews, Sponsored Content Etc. से भी Revenue Generate करते हैं।

YouTube के बाद अब बात Affiliate Marketing के बारे में करते है। 

Glassdoor.co में Publish Statistics के हिसाब से Affiliate Marketers की National Average Salary ₹ 26000 महीना है और Undoubtedly Affiliate Marketing Industry भी इस वक़्त Grow कर रही है।   

जहाँ तक बात Specifically Content Writers की करें, तो Ambitionbox.com में Publish Data के हिसाब से India में Content Writers की Salary 1.2 Lakhs To 6.2 Lakhs तक Range करती है और Content Writers की National Average Salary 3.0 Lakhs है।  

यह Statistics India के हिसाब से Appealing भले हों पर Globally शायद Content Creators अब तक Adequate Amount Earn नहीं कर पाए हैं।   

एक Survey के मुताबिक 96.5% YouTubers इतना पैसा भी नहीं कमाते कि वह U.S.A. की Poverty Line तक भी Reach कर सके। 

2019 में Publish Guidelines के मुताबिक U.S Poverty Threshold $12490 है Per Person Per Household.
इसे अगर Indian Rupees या भारतीय मुद्रा में देखा जाए तो यह लगभग 9,36,750 रुपए होते हैं।  

(यह Calculation करते वक़्त Dollar की कीमत 75₹ प्रति Dollar Assume की गई हैं।)

ये तो हुई U.S.A. की बात पर India में Creator Earnings और Poverty Limits दोनों ही काफी अलग है और साथ ही Creator Economy India ने अभी Grow करना बस शुरू ही किया है। 

ऐसे में Conclusion Drive करना जल्दबाज़ी होगी क्योंकि Indian Creator Economy का Growth Potential काफी ज़्यादा है।

Creator Economy और Content Creators का Future काफी हद तक Decentralization पर भी निर्भर करेगा। 

अभी तक काफी सारे Content Creators Third Party Platforms जैसे YouTube और Instagram पर Depend करते हैं जहाँ उनसे एक Hefty Fees Charge की जाती है। 

इसे एक उदाहरण के तौर पर समझते हैं।  

YouTube Ad Revenue का 45% Collect करता है और Creators को उन्हीं के Content पर सिर्फ 55% Advertising Revenue मिलता है। 

इसी के चलते कई सारे Creators Decentralized Platforms Search कर रहे हैं जो Blockchain या फिर किसी Similar Technology से Develop किए गए हो और जहाँ उन्हें ज़्यादा Fees ना देनी पड़े। 

Content Creators Overnight नहीं बनते।  

एक अच्छा Content Create करने में, Followers Engage करने में, Monetization में इन सब में वक़्त लगता हैं और Investment भी। 

Creator Economy India की बात की जाए तो Independent Creators के मुकाबले Freelancers कई अधिक हैं जो अपने Content को Sell करके Revenue Generate करते हैं।  

यह Content Audio, Video, Text किसी भी Form में हो सकता है।   

अगर आप एक Freelance Content Creator बनना चाहते हैं तो Opportunities Endless हैं बस आपके पास Subject Relevant Knowledge, Tools और Skills होने चाहिए। 

पर अगर आप Independent Creator बनाना चाहते हैं तो Patience और Consistency के साथ साथ Knowledge, Marketing Skills और Right Set Of Tools की भी ज़रूरत पड़ेगी। 

Independent Creators को यह समझना ज़रूरी है कि Freelancers की तरह वो Immediately Revenue Generate नहीं कर पाएंगे। उनके Content और Creation को Grow होने में और Monetize होने में काफी वक़्त लग सकता है। 

वहीं दूसरी तरफ Freelancers को Immediate Monetary Compensation तो मिलता है पर अपनी Creation का ना तो Credit मिलता है और ना ही Copyright.

Content Creators के लिए काफी Opportunities Available हैं पर यह पूरी तरह से आप पर Depend करता है कि आप Content Creator बनना चाहते हैं या नहीं। 

अपनी Interest, Taste And Preferences, Background Etc. को Evaluate करके Decision लेना बहुत ज़रूरी है। 

अगर आप Content Creator बनना चाहते हैं तो यह भी Decide करना ज़रूरी है कि आप Freelancer बनाना चाहते हैं या Independent Creator या फिर दोनों। 

Choice Is All Yours!

Conclusion

Creator Economy दिन प्रतिदिन Evolve हो रही है। 

इसलिए इससे जुड़ना और इसके बारे में जानना बहुत ज़रूरी है। 

Instagram Reels, Podcasts, YouTube Videos Etc. की बढ़ती Popularity को देखकर यह कहना गलता नहीं होगा कि Creator Economy ही Future है। 

हमें उम्मीद है हमारा यह Article आपके लिए Helpful रहा होगा और आपको Creator Economy और उसे जुड़े विषयों जैसे Creator Economy Trends 2022, Creator Economy Last कुछ सालों में कितना Evolve हुई और Content Creator बनाना Profitable है या नहीं, इन सब पर काफी जानकारी मिल गई होगी।  

पर रुकिए अभी कुछ और भी जानना बाकी हैं। 

क्या आप जानते हैं कि Content Creators को Infopreneurs भी कहा जाता हैं ?  Infopreneurs यह शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है
Information + Entrepreneurs = Infopreneurs. 

Infopreneurs का मतलब होता है ऐसे Entrepreneurs जो Information को Collect, Sell, Distribute करके Revenue Generate करते हैं।

अगर आप एक Infopreneur बनना चाहते हैं तो आज ही Register कीजिये मेरी Masterclass के लिए जहाँ मैं आपको Creator Economy के साथ साथ Income Sources के बारे में भी बताऊंगा जो आप अपने लिए बना सकते हैं Creator बनने पश्चात।

Share this post with your friends

3 Responses

    1. मैं Digital Marketing सिखाता हूं हिंदी में और साथ ही ये भी बताता हूँ की कैसे आप Digital Marketing सीख कर अपने लिए पैसे कमाने के नए ज़रिए बना सकते हैं।
      अधिक जानकारी के लिए मेरा Webinar attend करें।
      Webinar Link-
      https://digitalazadi.com/blog-webinar
      WhatsApp Group join kijiye
      https://digitalazadi.com/whatsapp-dawb

Leave a Reply

Your email address will not be published.