संदीप भंसाली - डिजिटल आज़ादी

Content Planning क्या है और क्यों ज़रूरी है?

Content Planning क्या है और क्यों ज़रूरी है

Content Creation एक ऐसा कौशल्य है, जो आपको ज़िंदगी के हर पेहलु में काम आने वाला है।
Content Planning भी उतना ही ज़रूरी है जितना की Content Creation. लेकिन ऐसा क्यों?
जानिए इस Blog में। 

आज के समय में यदि आपको अपने Brand की पहचान Digital World में बनानी है या Internet पर अपने Website, Brand या Product के Subscribers बढ़ाने हैं तो इसके लिए सही Content बहुत ज़रूरी है। बिना Content के ना तो आप Digital World में अपनी पहचान बना सकते हैं और ना ही अपने Brand, Website, या  Product को Famous कर पाएंगे। 

यहाँ सबसे Important बात ये है कि आज के दौर में जो कुछ भी आप Internet पर या Digital Medium से देखते या पढ़ते हैं वह सब कुछ Actual में Content ही तो होता है। ये Content ही है जिसे देखकर हमें Digital World की तरफ Interest आता है। बिना Content के इस डिजिटल युग में कुछ भी Interesting नहीं हो सकता।

चाहे Website हो या Short Video Platform या Long Form Video Platform या फिर किसी और प्रकार का Content Consumption Platform, हर जगह आपको Content ही मिलेगा। वैसे तो Content के कई सरे Purposes होते हैं लेकिन आज हम बात करेंगे कि कैसे आप अपने Business में Content Planning के ज़रिये दिन दुगनी रात चौगुनी की रफ्तार से तरक्की कर सकते हैं।

अगर आप अपने Business को Successful बनाना चाहते हैं तो सबसे पहले डिजिटल माध्यम के ज़रिये अपने Business की पहचान बनानी होगी और इसके लिए Content Planning बहुत ज़रूरी है। Content Planning के माध्यम से ही कोई अपने ब्रांड या अपने प्रोडक्ट का प्रचार और प्रसार डिजिटल माध्यम से पूरी दुनिया में कर सकता है और बड़ी ही आसानी से अपनी Sales को और अपनी Popularity को बहुत जल्दी बढ़ा भी सकता है।

Digital Marketing के बारे में तो आपने सुना ही होगा। ये ऐसी Marketing Techniques हैं जिनके ज़रिए आप बिना किसी Middleman अपने Products को Customers तक पहुंचा सकते हैं। 

Digital Marketing की बात करें तो डिजिटल मार्केटिंग Content के बिना कुछ नहीं है या यूँ कहें कि Content से ही डिजिटल मार्केटिंग है। डिजिटल मार्केटिंग की पूरी रणनीति ही Content और Content Planning पर Depend करती है।  

Table of Contents

Content Planning क्या है?

Content Planning क्या है?

आखिर क्या है Content Planning?
मैं
Content के बारे में तो आपको पहले ही बता चुका हूँ और Content के बारे में आजकल हर कोई जानता है लेकिन Content Planning के बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं।  

बिना Content Planning के, सही Content बनाना आसान नहीं है। 
ऐसा Content Create करने का भी कोई मतलब ही नहीं बनता जिससे आप अपनी सोच और Knowledge को सही ढंग से पेश ही न कर सकें।

आसान शब्दों में कहें तो Content Planning  एक ऐसा Plan या ऐसी Strategy है जो आप अपने Content को बनाने में इस्तेमाल करते हैं जिससे की आप अपना Research, Knowledge और Thoughts लोगों के सामने एक Interesting Way में पेश करते हैं।

Content Planning एक Prototype है जिसके इस्तेमाल से आप अपनी सोच और Knowledge को सही तरीके से Content को बनाने में Execute करते हैं। 

Content Planning के ज़रिये हम यह देखने की कोशिश करते हैं कि हम अपने Content से क्या Goal Achieve करना चाहते हैं और आगे हम उसे किस दिशा में ले जाना चाहते हैं।

Content Planning के ज़रिये हम यह भी सुनिश्चित करते हैं कि हमारा जो कंटेंट है वह किस तरह से हमारे Customer को हमारे Product की ओर Attract करेगा। साथ ही डिजिटल माधयम के ज़रिये, ये हमारी Help करता है बहुत ही कम समय में ज़्यादा से  ज़्यादा Customers तक पहुंचने में।

यानी कि Content Planning के ज़रिये आप एक ऐसी Strategy बनाते  हैं जिसमें आप अपने  Content के ज़रिए Internet पर आपकी Brand को बड़ा बनाने और उसे Famous करने के लिए काम करते हैं।

Content Planning Content Strategy से अलग कैसे है?

Content Planning Content Strategy से अलग कैसे है

जब भी बात आती है Content की तो 2 शब्द बहुत ज़्यादा सुनाई देते हैं: Content Planning और Content Strategy.
अब लोग समझते हैं कि Content Planning और Content Strategy दोनों Same हैं लेकिन ऐसा नहीं है। ये दोनों बिल्कुल अलग Terms और Concepts हैं लेकिन हां ये दोनों आपस में Relate करते हैं।

Content Planning, Content Strategy का सबसे पहला Step है यानी कि अगर आप कोई भी Content Strategy बनाते हैं तो उसमें सबसे पहला Step जो आप उठाएंगे वो है Content Planning. 

बात करें Content Strategy की, तो इसमें Content से Related सब कुछ समा जाता है, यानी कि Content Creation, Content Planning, Execution से लेकर Results तक।

Content Strategy  में एक और नई चीज़ जुड़ जाती है जो है – Marketing, यानी उस Content की मार्केटिंग किस प्रकार से और कहाँ – कहाँ पर की जाती है। Content Strategy में आपके सभी प्रकार के Marketing Channels भी आ जाते हैं जहां पर आपका Content रहता है या जहां पर आप Content Publish करते हैं ।

Content Planning क्यों ज़रूरी है?

Content Planning क्यों ज़रूरी है

Content Planning, Business के लिए बहुत ज़रूरी है। इसमें कोई शक नहीं कि यदि आप Content Planning नहीं करेंगे तो आपकी Content Strategy भी पूरी तरह से ना-कामयाब हो जाएगी क्योंकि जैसा कि मैंने आपको पहले ही बताया है कि किसी भी Content Strategy का सबसे पहला स्टेप ही Content Planning होता है।

ये तो आप सब ने पहले से सुना होगा कि यदि आपको कुछ भी हासिल करना है तो उसके लिए ज़रूरी है कि आप सबसे पहले Planning करें क्योंकि बिना प्लान के किसी भी Strategy को Execute करना नामुमकिन है।

तो आइए जानते हैं उन कारणों बारे में जिसकी वजह से आप यह समझ पाएंगे कि Content Planning आखिर इतना ज़रूरी  क्यों है। 

सबसे पहला कारण यह है कि Content Planning हमें यह बताता है कि हम Content किसके लिए और क्यों बना रहे हैं। अब अगर आपको यही नहीं पता होगा कि आखिर Target Audience कौन है साथ ही उनके Requirements क्या हैं तो आपका Content फिर किस काम का? इस तरह से तो आप एक सही कंटेंट बना ही नहीं पाएंगे।

इसलिए सबसे पहला कारण जो ये दर्शाता है की Content Planning क्यों ज़रूरी है, ये वो है की इससे हमें यह पता चलता है कि हमें Content किसके लिए बनाना है।

अगर आप यह जानते है कि आपकी Target Audience कौन है या आपको अपना कंटेंट किसके लिए बनाना है तो इसके बाद आपको इस बात पर Focus करना होगा कि आप उस कंटेंट को Target Audience तक किस तरह से पहुँचाएँगे।

Content Planning इसलिए भी ज़रूरी  है क्योंकि इससे हमें यह बहुत ही आसानी से पता चल जाता है कि हम अपने टारगेट ऑडियंस को अपना कंटेंट किस प्रकार से पहुँचाएँगे।

Content Planning हमें एक बेहतर Team बनाने में भी मदद करता है जिससे कि हमारी Team बहुत ही अच्छे तरीके से Content को Create कर सके और उसको Execute कर सके।

Content Planning हमें यह बताता है कि हमें अपनी Content की Team में कौन कौन से व्यक्ति की ज़रुरत होगी और कौनसा व्यक्ति Content Creation, Marketing और Publish Etc में क्या Role Play करेगा।

Content Planning, Content Creation से लेकर उसे Publish करने में लगने वाले Budget को बनाने में भी हमारी बड़ी मदद करता है यानी हम कितना पैसा अपने कंटेंट को बनाने, उसकी Marketing या उसको Publish करने में लगाएंगे।

Content Planning में कौनसे Steps Involved हैं?

Content Planning में कौनसे Steps Involved हैं

Content Planning में कई सारे Steps शामिल हैं। चलिए इन Steps के बारे में और अच्छे से जान लेते हैं:

Content का Purpose या Objective क्या है?

Content का Purpose या Objective क्या है

Content Planning में सबसे पहले और सबसे ज़रूरी ये आता है कि आप Content किस Purpose के लिए बना रहें हैं। कोई भी काम शुरू करने का कोई न कोई Objective होता है, बिना Objective के कोई भी काम सफल नहीं हो पाता। इसलिए सबसे पहले आपको अपने Content का उद्देश्य पता करना होगा यानी उस Content को आप क्यों बना रहे हैं?

तो जैसा कि आप जानते होंगे कि डिजिटल युग में Content ही One Of The Keys To Success है। चाहे फिर वह Business हो या फिर Entertainment, हर क्षेत्र में Content ही Success दिलाता है। Content Planning में सबसे ज़रूरी यही है कि आपका उद्देश्य Clear होना चाहिए।

आपके उद्देश्य के अनुसार ही आपका Content Planning का पूरा Process आगे बढ़ेगा। 

यदि आपको Content अपने Business के लिए बनाना है या Brand Promotion करने के लिए या Brand को डिजिटल युग में बड़ा बनाने या Famous करने के लिए तो इसके लिए आपका Content Plan-  Audience की Need और Demand के Basis पर अलग अलग होगा। वहीं अगर आपको Content Entertainment के लिए बनाना है तो उसके लिए भी आपको अलग तरह से Content Planning करनी होगी।

कई लोग Content Planning अपनी Popularity बढ़ाने के लिए भी करते हैं। इसलिए Content Planning को आगे बढ़ाने से पहले आपको यह पता  होना बेहद ज़रूरी है कि आपके Content का उद्देश्य क्या है और यही आपके Content Planning का पहला स्टेप है।

आपका Content किसके लिए है?

अब जबकि आपने अपने Content का उद्देश्य जान लिया है तो इसके बाद आपको  गौर करना है कि आपका Content किसके लिए है? आपकी Target Audience कौन है?

Target Audience का मतलब है आप किस वर्ग के लोगों के साथ अपना Content Share करना चाहते हैं। टारगेट ऑडियंस में कई सारे Factors आते हैं:

पहला किस उम्र के लोगों के साथ अपना Content Share करना चाहते हैं।

दूसरा किस Location के लोगों के साथ अपना Content Share करना चाहते हैं। Location से यहां मतलब है कोई Particular Country या फिर कोई Particular Region.

इसके अलावा, कुछ और भी ज़रूरी बातें हैं जिनपर आपको गौर करना होगा, जैसे :
पहला: टारगेट ऑडियंस में आप किसे टारगेट करना चाहते हैं Male या Female को, 
दुसरा : आपका content बच्चों के लिये है या Adults के लिये।
तीसरा : क्या आपका content किसी धर्म, जाती, समुदाय या संस्था के लिये तो नहीं ।
तो कुल मिलाकर आपको ये देखना होगा कि किस तरह के टारगेट ऑडियंस के लिए आपको अपनी Content Planning करनी है तभी आपके Content की Demand बढ़ेगी। 

किसी एक Particular Audience Group  को अगर आप Target करके चलेंगे तो आप ज़्यादा सफल होंगे। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपकी Target Audience बार-बार आप के कंटेंट को पढ़ना या देखना चाहेगी और इसलिए वो बार-बार आपके Content Sharing Platforms जैसे की Website, Social Media Profiles और YouTube Channel पर आएगी।

Content As A Solution

Content As A Solution

ये Content Planning का एक महत्वपूर्ण स्टेप है। आपने CTA के बारे में तो सुना ही होगा यानी कि Call-To-Action. किसी भी प्रकार के Content में Call-To-Action होना ज़रूरी  है। 

इसका आसान शब्दों में अर्थ ये है कि जो भी User आपके Content को पढ़ेगा या देखेगा उसे उसके Problem का Solution आपके Content में मिलना चाहिए। तभी Users आपके Content को बार-बार पढ़ेंगे क्योंकि उसमें उसको अपनी Problem का Solution मिलता है और ऐसे में आप User को; Positive Way में कोई ना कोई  Action लेने पर मजबूर कर सकते हैं। 

इसलिए Content हमेशा Call-To-Action पर आधारित होना चाहिए। ऐसा बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए कि आपके Content को पढ़कर Users Unsatisfied हो जाएं। इस बात पर पूरा ध्यान दें कि आपके Content से Users को कोई ना कोई लाभ ज़रूर मिले जिससे कि Users कोई ना कोई Action लें। पर अब बात आती है कि Users का ये Action कैसा होगा? 

Users का ये Action एक Positive Way में होना चाहिए। उदाहरण के लिए मान लीजिए आपने अपने किसी Product के ऊपर कोई Content बनाया है तो उस Product को आप ऐसे प्रदर्शित करिए कि जिससे आपका Product Users की Problems को हल करता हो ताकि User कोई Action ले और वो Action है आपका Product Buy करना।

तो अब आप समझ गए होंगे कि आपको Content इस प्रकार से Plan करना है कि वो Users की समस्या का समाधान करे ताकि User आपका कंटेंट पढ़ने या देखने के बाद कोई एक्शन ले और वह एक्शन आपके Favour में हो।

Type Of Content

Type Of Content

अब बात करते हैं Types Of Content के बारे में। यहाँ सबसे पहले हमें यह देखना होगा कि हम कैसा Content बनाना चाहते हैं? 

Content कितने प्रकार के होते हैं यह Depend करता है Content Planning पर। Content Planning Process में ही आपको तय करना होगा कि आप किस तरह का Content Create करना चाहते हैं। 

Also Read – Content Creation In Hindi 

Content Planning के आधार पर Content तीन से चार प्रकार के होते हैं जैसे कि : Video Content, Text Content, Audio Content और Visual Content. 

अब जैसा आपका Content होगा वैसा ही आपको Create या Design करना होगा।  साथ ही इसी के आधार पर आपको Budget बनाना होगा और Content Creator Hire करना होगा।

Also Read – 9 Best Practices For Effective Content Creation 

अगर आपका Content सिर्फ Text है तो आपको Content Writer की ज़रुरत पड़ेगी।
अगर आपका Content है Video तो आपको Video Creator या Editor की ज़रुरत पड़ेगी।
अगर आपका Content Visual Content है तो उसके लिए आपको Graphic Designer की भी ज़रुरत पड़ सकती है। 

अब जैसे ही आप अपने Content के Type को चुनेंगे आप उसके अनुसार ही अपने Content पर काम करना शुरू कर देंगे।

Content Publishing Platforms

अब जैसे ही आपका Content Create हो जाए आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप किस Platform पर अपना Content Publish करना चाहते हैं। 

Content Publish करने के लिए आज कई सारे मध्यम व कई सारे Platforms उपलब्ध हैं। तो यह आपको देखना होगा कि आपने जो टारगेट ऑडियंस Select की है वो सबसे ज़्यादा किस Platform पर Active रहती है और उन्हें किस माध्यम से Content Consume करना पसंद है।

उदाहरण के तौर पर आज के युवा सबसे ज़्यादा Social Media Platforms पर Active रहते हैं और Content Publish  करने के लिए Social Media आज के जमाने में सबसे बढ़िया Option है। सोशल मीडिया पर लाखों करोड़ों लोग हर वक्त Active रहते हैं और उसका User Base दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है। इसके साथ ही अपनी खुद की Website पर Content Publish करना भी एक अच्छा Option है।

YouTube पर Official Channel होना भी आज के समय में एक अच्छा Option है क्योंकि YouTube पर भी करोड़ों लोग हर समय Active रहते हैं और Content Consume करने का सबसे अच्छा माध्यम आज के समय में Video ही है। आप अपने Youtube Channel पर अपनी Website का भी Link दे सकते हैं इसके साथ ही आप अपने अलग-अलग Social Media Platforms की भी Link Share कर सकते हैं।

लेकिन Content Publish करने के लिए आज भी सबसे अच्छा माध्यम है Website. आज के समय में चाहे छोटा Business हो या बड़ा, सबकी अपनी Official Website  होती है और उसी पर वे अपने Products, Services या अन्य सभी Information को Publish करते हैं।

इसी के साथ Content Planning के सभी Steps यहाँ पर खत्म हो जाते हैं। अब आपको Content Strategy  के अनुसार आगे बढ़ना होगा।  

Content Planning को समझ लिया, Content Planning और Content Strategy के फर्क को भी देखा। Content Planning में कौनसे Steps शामिल हैं, ये भी देखा। 

अब बात करते हैं कि Content Planning के लिए Best Tools कौन से हैं?

Content Planning के लिए Best Tools

Content Planning के लिए Best Tools

Market में कई प्रकार के Content Planning Tools Available हैं जिनकी सहायता से आप बड़ी ही आसानी से Content Planning  कर सकते हैं और उसको Execute भी कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं कुछ सबसे महत्वपूर्ण और Popular Content Planning Tools के बारे में:

ContentCal बहुत ही Popular और Important Content Planning Tool है। यह एक Mapping Software है जिसके इस्तेमाल से आप अपने Content को Visualize कर सकते हैं। 

ऐसा करने से आपको यह पता चल जायेगा कि आप अपने Content Planning के अनुसार सही से चल रहे हैं या नहीं।

इसके साथ ही इसमें Automatic Posting का भी Option है यानी आप Content को Schedule भी कर सकते हैं।  इस Process में आप एक बार Post Publishing की Settings को Optimize करते हैं और फिर ये अपने आप Posting करते रहता है। 

MarketMuse बहुत ही अच्छा Content Planning अस्त्र है। इसकी मदद से आप अपने Content को बहुत गहराई से माप सकते हैं। यही नहीं, आप अपने Content के साथ-साथ अपने Competitor के Content को भी माप सकते है जिससे आप यह पता लगा सकते हैं कि आपका Content आपके Competitor के सामने कहाँ Stand करता है। ये Tool, Title और Keyword Suggestions भी देता है जिससे आपको अपने Content को  Search Engine पर Rank करने में आसानी होगी।

Monday.com एक काफी Popular Content Planning अस्त्र है और यही नहीं यह एक Project Management Tool भी है। आपकी पूरी Team को Content Manage करने के लिए इससे अच्छा Tool नहीं मिलेगा। Schedule बनाने से लेकर Team Members  को उनका काम Assign करने तक, हर चीज़ में ये अस्त्र आपकी मदद करेगा। 

इस अस्त्र के माध्यम से आप अपने Future Content  को भी Plan कर सकते हैं। सबसे अच्छी बात यह है कि इस  अस्त्र को आप कई अन्य Communication Tools के साथ Integrate कर सकते हैं जो कि आपके और आपके Team Members के बीच में बहुत ही अच्छा Communication Establish करता है।

Content Planning के लिए Communication बहुत ज़रूरी है और Communication के लिए Trello से अच्छा दूसरा और कोई भी अस्त्र नहीं है। Collaboration करने के लिए भी इस अस्त्र से अच्छा कोई और अस्त्र नहीं। 

Content Calendar से लेकर Marketing Campaign तक और To-Do List से लेकर Future Scheduling तक हर Task में Trello आपकी मदद कर सकता है।

Conclusion

Planning की Importance तो हम लोग जानते ही हैं इसलिए ज़रूरी है कि कोई भी नए काम की शुरुआत करने से पहले उसकी पूरी Planning करें।

Content, Digital Marketing के लिए बहुत ज़रूरी  है लेकिन Content बनाने से पहले आपको Content Planning करनी होगी क्योंकि यही आपके Content Strategy का पहला स्टेप भी है। Content Planning के बिना आपकी Content Strategy सफल नही होगी और ना ही आप अपने Business को आगे बढ़ा पाएंगे। इसलिए, Content से ज़्यादा Important है उसकी Planning. Content Planning अच्छी होगी तो Content और उसकी Marketing भी अपने आप ही अच्छी हो जाएगी। 

अगर आप Business को Successful बनाना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको Digital माध्यमों के ज़रिये अपनी Company या अपने Business की पहचान बनानी होगी और ऐसा आप तभी कर पाएंगे जब आपने सही रूप से Content Planning की हो। 

अगर आप सही रूप से Content Planning के ज़रिए अपने Brand, Company, Products या Services का प्रचार व प्रसार डिजिटल माध्यम से करते हैं तो बड़ी ही आसानी से आप अपने Products या Services के Sales को और अपनी Popularity को बहुत जल्दी बढ़ा भी सकते हैं। 

साथ ही एक Content Plan बनाने पर आप Content Creation से लेकर Publishing और Budgets को भी अपने Control  में रख सकते हैं।  

उम्मीद है की इस ब्लॉग आपने Content Planning को गहराई से समझा और इसके Benefits का लाभ आप ज़रूर उठाना चाहेंगे।

Share this post with your friends

29 Responses

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *